Electroplating क्या होता है?कैसे एक धातु की परत दूसरे धातु पर चढ़ाई जाती है (Electroplating in Hindi)

Electroplating क्या होता है?कैसे एक धातु की परत दूसरे धातु पर चढ़ाई जाती है (Electroplating in Hindi)

Electroplating क्या होता है? आपके मन में यह सवाल जरूर आया होगा। हमारे रोजमर्रा के (Electroplating in Hindi)जीवन में इसका बहुत बड़ा उपयोग है। electroplating की सहायता से हम एक धातु के ऊपर दूसरे धातु की परत चढ़ा सकते हैं। दोस्तों आज के इस आर्टिकल मे समझेंगे कि electroplating क्या है और यह कैसे काम करता है।

Electroplating की परिभाषा-” electroplating वह प्रक्रिया है जिसमे हम विद्युत के माध्यम से एक धातु की परत को किसी अन्य धातु के ऊपर चढ़ा देते है “

रासायनिक प्रभाव (Chemical effect i hindi)

Electroplating in Hindi

दोस्तों electroplating को समझने से पहले हम chemical effect को समझ लेते हैं। जब किसी लवण(salt) के जलीय विलयन में विद्युत धारा प्रवाहित की जाती है तो उसका विद्युत अपघटन होता है। इस घटना को विद्युत धारा का रासायनिक प्रभाव कहते हैं।

जिस उपकरण में लवणों के जलीय विलयनों का विद्युत अपघटन होता है उसे वोल्टामीटर कहते हैं। जब किसी विद्युत अपघट्य लवण का जलीय विलयन बनाते हैं तो लवण दो प्रकार के आयनों में टूट जाता है। इन आयनों पर विपरीत प्रकार के आवेश होते हैं। जिन आयनों पर धन आवेश होता है, उन्हें धनायन (calion) कहते हैं तथा ऋणावेश वाले आयनों को ऋणायन (anion) कहते हैं।

जब इस आयन युक्त विलयन में विद्युत धारा प्रवाहित की जाती है तो धनायन कैथोड की ओर एवं ऋणायन एनोड की ओर चलने लगते हैं और उन पर जाकर जमा हो जाते हैं। विद्युत अपघटन (Electroplating in Hindi)के दैनिक जीवन में कई अनुप्रयोग देखने को मिलते हैं जिनका वर्णन नीचे किया गया है।

विद्युत लेपन क्या है (What is Electroplating in hindi)-

विद्युत लेपन के द्वारा एक धातु पर दूसरी धातु की सतह चढ़ायी जाती है। बाजारों में बिकने वाली सस्ते धातुओं के जेवरातों पर चाँदी या सोने की तह चढ़ा कर उन्हें मूल्यवान बनाया जाता है। उदाहरणार्थ जैसे-ताँबे पर चाँदी की तह चढ़ाने के लिए सिल्वर नाइट्रेट (AgNO3)का जलीय विलयन वोल्टमीटर में लेकर इसमें ताँबे की प्लेट का कैथोड व चाँदी के प्लेट का एनोड लेते हैं।

जलीय विलयन में सिल्वर नाइट्रेट,सिल्वर व नाइट्रेट आयनों में टूट जाता है। जब विद्युत धारा प्रवाहित किया जाता है तो सिल्वर आयन ताँबे की प्लेट पर आकर जमा होने लगते हैं जिससे इस पर चाँदी की पतली पर्त चढ़ जाती है।

साधारणतया जिस धातु पर लेपन करना होता है उसे कैथोड बनाते हैं तथा जिस धातु का लेपन (Electroplating in Hindi)करना होता है उसे एनोड बनाते हैं।

धातु का वैद्युत परिष्करण (Electro-Refining of uletal in hindi)-

अशुद्ध या मिश्रित धातुओं का परिष्करण विद्युत अपघटन के द्वारा किया जाता है। इस विधि में मिश्रित धातु का एनोड लेते हैं व उसी का कैथोड लेते हैं। इन दोनों को धातु के कि किसी लवण के जलीय विलियन में डालकर विद्युत अपघटन कराया जाता है फलस्वरुप एनोड से मिश्रित धातु बिलियन में घुलती है तथा शुद्ध धातु कैथोड पर एकत्रित हो जाती है

यह article “Electroplating क्या होता है?कैसे एक धातु की परत दूसरे धातु पर चढ़ाई जाती है (Electroplating in Hindi) “पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया उम्मीद करता हुँ। कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा।