DMCA.com Protection Status

संकुलन क्षमता क्या है, Hcp और ccp संरचनाओं में संकुलन क्षमता, उदाहरण-Packing capacity In hindi

संकुलन क्षमता क्या है, Hcp और ccp संरचनाओं में संकुलन क्षमता, उदाहरण(Packing capacity, packing capacity in HCP and CCP structures, examples)

संकुलन क्षमता क्या है ?

हमें पहले यह समझना होगा कि संकुलन क्षमता क्या है। संकुलन क्षमता एक संरचना के अणुओं या आयनों द्वारा भरे गए स्थान का प्रतिशत होता है। HCP तथा CCP संरचना की संकुलन क्षमता लगभग बराबर होती है जो 74% होती है। इसका मतलब है कि इन संरचनाओं में, अणुओं या आयनों द्वारा संरचना का 74% हिस्सा भरा होता है।

संकुलन क्षमता = (अणुओं या आयनों के आयतन) / (संरचना के आयतन) x 100%

Hcp और ccp संरचनाओं में संकुलन क्षमता( Packing efficiency in hcp and ccp structure )

HCP और CCP संरचनाओं में संकुलन क्षमता 74% होती है। CCP संरचना में संकुलन क्षमता 74% होती है जो इसका मतलब है कि संरचना में उपलब्ध स्थान का 74% अणुओं या आयनों द्वारा भरा जाता है। HCP संरचना में भी संकुलन क्षमता 74% होती है।

इसका मतलब है कि HCP संरचना को दो आपस में घुसते त्रिकोणीय जालों के रूप में समझा जा सकता है, जिसमें प्रत्येक जाल की संकुलन क्षमता 2/3 होती है। इसलिए, HCP संरचना की कुल संकुलन क्षमता 2/3 x 2 = 4/3 = 1.33 होती है, जो 74% के बराबर होती है। 

Join

Hcp और ccp संरचनाओं में संकुलन क्षमता की गणना करने के लिए सूत्र

हम जानते हैं कि HCP और CCP संरचनाओं में संकुलन क्षमता लगभग बराबर होती है। CCP संरचना के एकक कोष्ठिका के किनारे की लम्बाई a होती है तथा फलक के किनारे की लम्बाई भी a होती है। इसलिए, ccp संरचना में एकक कोष्ठिका के बीच अंतर a होता है।

Read More  Bromine क्या है, खोज, गुण, उपयोग, समस्थानिक (What is Bromine, Discovery, Properties, Uses, Isotopes in Hindi)

इसके अलावा, हम जानते हैं कि HCP संरचना को दो आपस में घुसते त्रिकोणीय जालों के रूप में समझा जा सकता है, जिसमें प्रत्येक जाल की संकुलन क्षमता 2/3 होती है। इसलिए, HCP संरचना की कुल संकुलन क्षमता 2/3 x 2 = 4/3 = 1.33 होती है, जो 74% के बराबर होती है।

इस तरह से, संकुलन क्षमता की गणना के लिए निम्नलिखित सूत्र का उपयोग किया जाता है:

– संकुलन क्षमता = (अणुओं या आयनों के आयतन) / (संरचना के आयतन) x 100%

यहां, संरचना के आयतन को अणुओं या आयनों के संरचना में लिए जाने वाले स्थान के साथ जोड़ा जाता है।

उदाहरण

हम एक उदाहरण के माध्यम से HCP और CCP संरचनाओं के संकुलन क्षमता की गणना गणना करेंगे

CCP संरचना:

  • एकक कोष्ठिका के किनारे की लम्बाई a होती है तथा फलक के किनारे की लम्बाई भी a होती है।
  • इसलिए, एकक कोष्ठिका के बीच अंतर a होता है।
  • एकक कोष्ठिका में अणुओं की संख्या 4 होती है।
  • अणुओं के आयतन = (4/3)πr^3, जहां r = a/2√2 होता है।
  • एकक कोष्ठिका के आयतन = a^3
  • संकुलन क्षमता = (अणुओं के आयतन) / (संरचना के आयतन) x 100%
  • संकुलन क्षमता = [(4/3)πr^3 x 4] / (a^3) x 100%
  • संकुलन क्षमता = [(4/3)π(a/2√2)^3 x 4] / (a^3) x 100%
  • संकुलन क्षमता = 0.74 या 74%

HCP संरचना:

  • HCP संरचना को दो आपस में घुसते त्रिकोणीय जालों के रूप में समझा जा सकता है, जिसमें प्रत्येक जाल की संकुलन क्षमता 2/3 होती है।
  • इसलिए, HCP संरचना की कुल संकुलन क्षमता 2/3 x 2 = 4/3 = 1.33 होती है, जो 74% के बराबर होती है।

इस तरह से, HCP और CCP संरचनाओं के संकुलन क्षमता की गणना कर सकते हैं।

DMCA.com Protection Status