सौरमंडल किसे कहते हैं सम्पूर्ण जानकारी हिंदी मे -About Solar system hindi

सौरमंडल किसे कहते हैं  सम्पूर्ण जानकारी हिंदी मे -About Solar system  hindi

About Solar system hindi-सौरमण्डल जिसे हम अपना घर कहते है space मे यही हमारी पहचान है. वैसे तो पूरे universe मे कई सौर मंडल है. पर हमारा सौरमण्डल सबसे अलग है. क्युकी यहां जीवो की बहुत सारी species रहती है.Everything about Solar system hindi

वैज्ञानिक calculation के अनुसार हमारे Solar system की उत्पति 4.5 billion साल पहले हुई थी. और उसी दौरान हमारे सूर्य का निर्माण हुआ था.

Contents hide
1 सौर मण्डल मे क्या है -What is Solar system hindi

सौर मण्डल मे क्या है -What is Solar system hindi

हमारे Solar system मे सूर्य, ग्रह, उपग्रह, asteroid, comets, और बहुत से छोटे objects शामिल है. जबकि हमारा सूर्य उसके केंद्र मे स्थित एक तारा है. जो पूरे solar family को प्रकाश देने का काम करता है. Solar system मे आठ ग्रह है. जिसमे mercury, venus, earth, mars, Jupiter, Saturn, Uranus और Neptune शामिल है.

हालांकि की पहले इसमें pluto का नाम भी शामिल था. लेकिन 2006 मे उसे ग्रह की list से बाहर (Solar system hindi)कर दिया गया.

धूमकेतु (Comet in Solar system hindi)

हमारे सौरमण्डल मे न जाने कितने छोटे -छोटे objects मौजूद है. जो पूरे सौरमण्डल (Solar system hindi)मे घुमते रहते है इन्हे हम comet कहते है.

धूमकेतु की बनावट-structure of comet in hindi

धूमकेतु को बर्फ का मिश्रण माना जाता है क्युकी यह Gas और पानी से मिलकर बने होते है इनके बारे मे यह भी कहा जाता है की यह वे gas के गोले है जो कभी planet नही बन पाए.धूमकेतु परिक्रमा करते वक़्त जब सूर्य के नजदीक आ जाते है. तब यह बहुत गर्म हो जाते है. जिसके कारण यह गैस और धुल कन निकालते है. जिसके फलस्वरूप विशालकाय object का निर्माण होता है.

Asteroid belt (क्षुद्रग्रह घेरा)

हमारे सौरमण्डल(intresting facts about Solar system hindi) मे एक ऐसा इलाका है. जिसे हम asteroid belt के नाम से जानते है. यह Mars और Jupiter के बिच पडती है. इसमें हजारों लाखो छोटे छोटे क्षुद्रग्रह सूर्य की परिक्रमा कर रहे है.ज्यादातर asteroid चट्टान और पत्थर से बने होते है. जिनमे लोहा और निकल का कुछ हिस्सा शामिल होता है.

1. Mercury( बुध): The first planet in our solar system hindi

Solar system hindi
MERCURY
Images source :third party

यह हमारे सौरमण्डल का पहला ग्रह है जिसे हमारे पूर्वज हजारों सालो से जानते थे. इस planet का नाम Mercury रोमन देवता के नाम पर रखा गया है.

प्राचीन लोग इसे सुबह का तारा और शाम का तारा भी कहते है.पहले माना जाता था की Mercury हमारे Solar system का सबसे गर्म ग्रह है. यह बात गलत साबित हुई. क्यूंकि Mercury पर कोई atmosphere न होने की वजह से यह Temperature को रोक कर नही रखा पाता है जिसके कारण यहां पर Green Gas Effect नही देखने को मिलता.

बुध से जुडी कुछ महत्वपूर्ण तथ्य -interesting facts about Mercury in our Solar system hindi


17 Century मे galileo ने सबसे पहले telescopes से planets की तरफ देखा, पर galileo का telescopes इसे देखने के लिए काफी नही था.सन 1960 तक यह माना जाता था की सूर्य और mercury एक दूसरे से locked है. मतलब इस planet का एक face हमेशा सूर्य (facts about Solar system hindi)की तरफ रहता है. पर सन 1965 मे Doppler Radar Observation से यह बात गलत साबित हो गयी.

Mercury अपने दो सालो मे अपने धुरी पर तीन चक्कर लगा लेता है. जिसका अर्थ हुआ – इस planet मे केवल दो साल मे तीन दिन होते है.Mercury हमारे Solar system मे सूर्य से सबसे नजदीक है. इसकी सूर्य से दूरी 5करोड़ 76 लाख किलोमीटर है. यह हमारे सौरमण्डल का सबसे छोटा ग्रह भी है. जिसका average diameter लगभग 4880 किलोमीटर है.

यह हमारे Solar system मे पृथ्वी के बाद सबसे Dense ग्रह है. इसकी Density 5.43g/cm^3 है. इसकी core आयरन से बनी हुई है. जबकि पृथ्वी का core, silicate से मिलकर बना है.Mercury ग्रह का तापमान हमारे सौरमण्डल मे सबसे ज्यादा असमान्य रहता है. दिन के समय इसके सतह का तापमान 450°c रहता है. जबकि रात का तापमान -170°c तक चला जाता है. शुक्र ग्रह हमारे सौरमण्डल का सबसे गर्म ग्रह है. जो बुध ( Mercury )से थोड़ा ज्यादा गर्म है.

यह ग्रह सूर्य(Solar system hindi) का एक orbit पूरा करने मे 88 दिन लगाता है. यानी Mercury पर एक दिन पृथ्वी के 59 दिन के बराबर होता है. Mercury बाकी planets से तेज सूर्य की परिक्रमा करता है. जो की 180000 किलोमीटर/घंटा है.

जबकि पृथ्वी सूर्य का परिक्रमा 1, 70, 000 किलोमीटर /घंटा की रफ़्तार से लगाती है.इस ग्रह का magnetic field’s बहुत ही कमजोर है. जो की Earth के Magnetic fields का सिर्फ 1% है. इसका कोई अपना Natural Satellite नही है.

2. Venus (शुक्र) -शुक्र ग्रह की पूरी जानकारी हिंदी

Solar system hindi
Planet Venus

यह Mercury के बाद सूर्य (information about Solar system hindi)से सबसे निकट ग्रह है. और चाँद के बाद सबसे ज्यादा चमकने वाला Astronomical Objects है.

इस planet का नाम रोमन देवी “वीनस” के नाम पर रखा गया है.जो प्यार और सौंदर्य की देवी है. शुक्र ग्रह बादलो से इतना ज्यादा ढका हुआ है की इसके सतह को देख पाना संभव नही है. 20 शताब्दी मे खगोल विज्ञान के विकास के बाद इसके अनेको रहस्य को सुलझाया गया है. इस ग्रह (Solar system hindi)का अपना कोई चाँद नही है. इसका average diameter 12103km (बारह हजार एक सौ तीन किलोमीटर) है.जो की पृथ्वी से 650km ही कम है. और इसका भार पृथ्वी के भार का 81.5% है

शुक्र ग्रह से जुडी कुछ महत्वपूर्ण तथ्य- interesting facts about venus in hindi

Scientists का मानना है की इस ग्रह का core आयरन का बना है. बिच का भाग पथरीला है. और ऊपर का भाग silicate से बना है.

शुक्र ग्रह का एक दिन इसके एक साल से भी बड़ा होता है. यह अपनी धुरी पर एक चक्कर 243 दिन मे पूरा करता है. लेकिन 225 दिन मे यह सूर्य(facts about Solar system hindi) का एक परिक्रमा कर लेता है.यानी इस ग्रह पर एक साल 225 दिन का होता है. और एक दिन 243 दिन के बराबर, दिमाग हिला देने वाला fact है.

Solar system के सभी ग्रह anticlockwise rotate करते है. जबकि शुक्र ग्रह clockwise direction मे अपनी axis पर rotate करता है. Scientists का मानना है की किसी ग्रह या उपग्रह की भयानक टक्कर से इसका direction change हो गया होगा.

इस ग्रह 80% भाग ज्वालामुखी से बना हुआ समतल मैदान है. और बाकी के भागो मे दो बड़े महाद्वीप है. इस planet का सबसे ऊंचा पर्वत Maxwell Montes है.शुक्र ग्रह की अधिकांश भागो मे विचित्र तरह की दरारे बनी हुई है. इसके अलावा इस ग्रह पर लगभग 167 ज्वालामुखी है. जो लगभग 100km के दायरे मे फैले हुए है.

क्या जीवन के सबूत है. शुक्र ग्रह पर ?(Solar system hindi)

यह माना जाता है की शुरूआती दिनों मे शुक्र ग्रह पर जीवन रहा होगा. लेकिन आज शुक्र पर जीवन की कल्पना करना भी मुश्किल है. क्योकि यहां का atmosphere बहुत ही ज्यादा Dense हो चूका है. इसके atmosphere मे co2 की मात्रा ज्यादा होने के कारण बहुत तेज ग्रीन गैस इफ़ेक्ट पैदा होता है.

जो इसकी सतह के तापमान को Normal से 400°c तक बढ़ा देता है. जो बुध (Mercury) के सतह के तापमान से भी अधिक है. जबकी यह बुध (Mercury) से दुगनी दूरी पर स्थित है. गर्मी के कारण यहां radiation का level इतना बढ़ जाता है की यहां जीवन की कल्पना ही नही की जा सकती.इसके atmosphere मे co2 के ऊपर so2 और H2SO4(sulfuric acid ) के घने बादल है.

जो सूर्य(Everything about Solar system hindi) से आने वाली लगभग 60% lights को reflect कर देती है. इस ग्रह का atmospheric pressure पृथ्वी के atmospheric pressure से 92 गुणा ज्यादा है.

इस ग्रह की जानकारी और study के लिए सबसे पहला space satellite russia ने वेंनेरा-1 सन 1961 मे भेजा था. पर असफलता हाथ लगी बिच मे ही base से कांटेक्ट टूट गया. इसके बाद सन 1962 USA ने मेरीनर-1 भेजा जो सफल रहा. इसके बाद अनेको mission शुक्र ग्रह की और भेजे गए.

पहले यह माना जाता था की इस ग्रह की अपनी कोई magnetic fields ही नही है पर. सन 1980 मे हमें पता चला की शुक्र ग्रह की magnetic fields पृथ्वी की तुलना मे बहुत ही कमजोर है. जो बनती है solar winds और ionosphere मे induction के कारण.ऐसे ही अनेको रहस्य शुक्र ग्रह आज भी अपने अंदर समेटे हुए है. जिसे अभी हमें जानना बाकी है.

3. पृथ्वी (Earth)-पृथ्वी का जन्म कैसे हुआ हिंदी (About Earth in hindi)

Solar system hindi
Earth

हमारे सौरमण्डल का एकलौता ग्रह जहाँ जीवन है पृथ्वी एक मात्र ऐसा ग्रह है. जिसका नाम greek or roman, mythology के अनुसार नही रखा गया है.

इसका नाम planet Earth एक पुराने इंग्लिश वर्ड्स eartha से लिया गया है.पृथ्वी पर रहने के बावजूद हमने इसे समझने मे काफी गलतियां की. जैसी रोमन से पहले सभी earth को फ्लैट मानते थे. पर बाद मे हमने अपनी गलतियां सुधारी और पृथ्वी को गोल मान लिया गया.

पृथ्वी से जुडी महत्वपूर्ण तथ्य -interesting facts :Earth in hindi

लगभग 4.5 billion साल पहले धरती का जन्म हुआ. यह वह समय था जब सूर्य के साथ पूरे solar system hindi का निर्माण हो रहा था. एक theory के अनुसार हमारे सौरमण्डल का निर्माण nebula से हुआ है. Nebula के ज्यादा गर्मी और density के कारण हमारा सूर्य बना.और फिर gravity के कारण भारी particles इसके पास इर्द गिर्द घूमने लगे. और गैस के particles दूर जाते गए. और बाद मे यह

एक दूसरे से जुड़कर ग्रह बने.इस प्रकार हमारी पृथ्वी(special things about Solar system hindi) को बनने मे एक से दो करोड़ साल लगे. हमारी पृथ्वी 4.5 billion साल पुरानी है. पर यहां मिली सबसे पुरानी चट्टान 4 billion साल पुरानी है.और सबसे पुराना जीवाश्म 3.9 billion साल पुराना है. सूर्य से पृथ्वी की दुरी एक astronomical unit के बराबर है. पृथ्वी अपनी axis पर 24 घंटे मे एक चक्कर लगा लेती है. जो की सभी बड़े planets मे सबसे तेज है. पर यह सभी गैस planets से धीमी है.

Earth पर एक साल 365.26 दिनों का होता है. मतलब यह सूर्य (Solar system hindi)का एक चक्कर 365.26 दिनों मे पुरी करती है. इसका average diameter, 12756km है पृथ्वी का atmosphere पुरी तरह से life को support करता है.

पृथ्वी का वातावरण-fact’s about planet earth

इसके atmosphere मे लगभग 78% nitrogen, 21% oxygen और 1% अन्य गैस है. जो life और अन्य biological production के लिए जरूरी है. पृथ्वी के atmosphere मे ओजोन लेयर भी पाई जाती है.जो सूर्य से आने वाली harmful radiation से हमारी रक्षा करती है.

हमारे सौरमण्डल(Solar system hindi) मे पृथ्वी ही एक ऐसी जगह है जहाँ पानी तीनो state मे पाया जाता है. Solid, Liquid और gas.
पृथ्वी पर greenhouse gas natural तरीके से maintain होती है.Planet earth पर escape velocity की value 11.2km/seconds है. जो की पृथ्वी के atmosphere को रोक कर रखती है. जिससे कोई भी gas लीक नही होती.

Earth ,gravity acceleration की value 9.8 m/s है. gravity के कारण ही पृथ्वी को एक बेहतर सतह मिली है. पृथ्वी की सबसे उची चोटी mount everest है. जिसकी ऊचाई 8850m है.हमारी पृथ्वी पर लगभग 8 बड़ी tectonic plate है. और लगभग 20 अन्य छोटी plates है. जिनपर सात महाद्वीप और पूरा समुन्द्र.(cool facts about Solar system hindi) बसा हुआ है


पृथ्वी का 70% भाग समुन्द्र से घिरा हुआ है. माना जाता है की 3.8 billion साल पहले जीवन की शुरुआत हुई थी. और इसके बाद हम सतह पर जीने के काबिल बने. चाँद हमारी पृथ्वी का एकलौता उपग्रह है. पर आज हजारों छोटे छोटे artificial satellite पृथ्वी के orbit मे है.

चाँद हमारी पृथ्वी की rotation speed को हर 100 साल मे 2 मिलीसेकेंड धीमा कर रहा है.पृथ्वी का megnetic fields बहुत ही strong है. जो हमें solar winds और अन्य हानिकारक rays से protect करता है. : About solar system hindi

Why was the earth called a watery planet?

पृथ्वी की सतह लगभग 71% पानी से ढकी है, सायद इसीलिए पृथ्वी को “Blue marvel” और “Blue planet ” जैसे नाम दिए गए हैं।

और जैसा कि हम जानते है पृथ्वी पर जीवन के लिए पानी महत्वपूर्ण है, लेकिन विशेष रूप से water मे रहने वाली प्रमुख प्रजातियों के लिए, इसे “Water planet ” नाम दिया गया है।

What factor make life possible on earth?

यह सूर्य (Solar system hindi)से सही दूरी पर है. मतलब न ज्यादा दूर न ज्यादा करीब है. जो पृथ्वी पर Water को Liquid रूप मे रहने के लिए support करता है.

हमारा सौर मंडल(solar system information in hindi) जिसमें हमारा planet है, हमारी आकाशगंगा के center से भी ठीक दूरी पर है। मेरा मतलब है कि यह इतना दूर नहीं है और न ही इतना करीब है

यह बिल्कुल perfect conditions देता है. हमारे solar system को.

पृथ्वी में कई समस्याओं के लिए जिम्मेदार सूर्य से आने वाली हानिकारक UV-Rays को रोकने के लिए ओजोन परत है.
पृथ्वी का एक चुंबकीय क्षेत्र है जो हमें हानिकारक किरणों के साथ, Solar wimds से भी भी बचाता है.

साथ ही हमारा सूर्य (important facts about Solar system hindi)स्थिर है और एक लंबे समय तक चलने वाला तारा है. जो हमें बहुत सारी ऊर्जा प्रदान करता है.पृथ्वी की अपनी वायुमंडलीय परत है जो ऑक्सीजन जैसे उपयोगी गैसे को रोककर रखती है. जो हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण भी एक ऐसा कारक है जिसने पृथ्वी पर जीवन को संभव बनाया है.

:about solar system hindi

4. मंगल ग्रह की जानकारी हिंदी में-About Planet Mars in hindi –

Solar system hindi
Mars :the red planet

Mars हमारे सौरमण्डल का चौथा ग्रह है. Mercury के बाद यह दूसरा सबसे छोटा ग्रह है. मंगल सूर्य से 230 million किलोमीटर दूर स्थित हैSolar system hindi

मंगल ग्रह पर iron oxide ज्यादा मात्रा मे होने के कारण यह लाल रंग का दिखाई देता है.और इसी कारण मंगल ग्रह को Red planet भी कहा जाता है.मंगल ग्रह का नाम रोमन युद्ध के देवता से inspired होकर “Mars ” रखा गया है.आकार मे मंगल ग्रह का Diameter पृथ्वी के Diameter का आधा है.

मंगल का कुल surface area पृथ्वी के Dry surface area के बराबर है.पृथ्वी के तरह मंगल ग्रह की the core भी dense metallic material से बनी हुई है. जिसका radius लगभग 1700km है. इसके the core मे मुख्य रूप से iron, sulphur और निकल मौजूद है.The Core के ऊपर silicate की बनी हुई एक परत है जो की कम dense है.

क्या मार्स पर जीवन संभव है ?(mars planet fact’s in hindi )

माना जाता है की करोड़ो साल पहले मंगल पर जीवन रहा होगा. पर धीरे – धीरे climate change होने के कारण जीवन ख़त्म हो गया.
एक मान्यता यह भी है की लगभग 4 billion साल पहले मंगल ग्रह पर magnetic fields गायब हो गया होगा.

जिसके कारण सूर्य की हानिकारक Radiation, solar winds इसके atmosphere मे घुसकर इसको पुरी तरह से बर्बाद कर दिया. इसके बावजूद मंगल ग्रह के पास एक बहुत ही पतला atmosphere है. जिसका atmospheric pressure पृथ्वी के atmospheric pressure के मुक़ाबले सिर्फ 1% ही है. इसके atmosphere मे 96% Co2 और 3.82% argon और nitrogen पाई जाती है. इसके आलावा oxygen और water के traces भी मंगल पर पाए गए है.

सन 2003 Mars express ने मंगल ग्रह पर सबसे ज्यादा मीथेन gas होने के संकेत दिए थे. मंगल पर मीथेन का मिलना एक बहुत बड़ी खोज थी. क्युकी मीथेन Air reaction की प्रक्रिया से बनती है. जो एक बहुत बड़ा प्रमाण हो सकता है की मंगल पर आज भी जीवन है. यह मीथेन gas मंगल के अलग-अलग हिस्सों से निकल रही थी.Curiosity rover ने भी मंगल ग्रह पर मीथेन की उपस्थित दर्ज की थी. मंगल के नार्थ पोल पर गर्मी के मौसम के दौरान लगभग 19 हजार मेट्रिक टन मीथेन gas released होती है. और यह आकड़ा तेजी से घटता बढ़ता रहता है.

मंगल ग्रह पृथ्वी के मुक़ाबले 1.5 गुणा ज्यादा दूर है सूर्य से, इसी कारण मंगल ग्रह पर सूर्य(solar system information in hindi) की रौशनी सिर्फ 43% ही पहुँचती है.

मंगल ग्रह से जुडी महत्वपूर्ण बातें -mars planet fact’s in hindi

इस planet पर gravity पृथ्वी के मुक़ाबले 68% ही है.

इसके कारण मंगल का atmosphere ज्यादा ऊचाई पर फैला हुआ है.

यह ग्रह अपनी axis से लगभग 254° झुका हुआ है. जो की पृथ्वी के लगभग बराबर है.

और इसी कारण पूरे Solar system मे सिर्फ मंगल ग्रह पर ही पृथ्वी के जैसे मौसम बनते है.
लेकिन मंगल ग्रह के मौसम पृथ्वी के मुक़ाबले दुगने बड़े होते है

सूर्य(Everything about Solar system hindi) से ज्यादा दुरी होने के कारण मंगल ग्रह पर एक साल 687 earth days के बराबर होता है.

Mars पर एक दिन 24 घंटे 39 मिनट 35 सेकंड का होता है.

मंगल ग्रह पर सर्दियों मे poles पर temperature -143°cतक चला जाता है.

जबकी गर्मियों मे नार्मल 25°c equator पर रहता है.

इसी वजह से यहां का average temperature -125°c रहता
है.

बिल्कुल पृथ्वी की तरह मंगल ग्रह के poles पर पर भी दो ice caps है.

जो पूरे साल जमीं रहती है. इन ice caps ने मंगल पर पानी के नये आयाम खोल दिए है.

मंगल ग्रह पर सर्दियों मे लगभग 30% atmosphere जम जाता है.

जिनमे मुख्य रूप से carbon dioxide होती है. जिसे हम dry ice भी कहते है.

इसके North pole पर जमीं dry ice की मोटाई लगभग 1मीटर होती है.

जबकी south pole पर जमीं dry ice की मोटाई 8metre तक है.जब इस caps पर सूर्य की किरणे पडती है. तब यह liquid के बजाय सीधे gas मे बदल जाती है. Scientists का मानना है की इन poler caps के ऊपर पानी जमा हुआ हो सकता है.

मंगल ग्रह पर हमारे सौरमण्डल(informatio about solar system hindi)का सबसे बड़ा ज्वालामुखी भी है. जिसका नाम olympus mons है. इस विशाल ज्वालामुखी(intresting facts about Solar system hindi) की ऊचाई लगभग 25 किलोमीटर है. जो की 600 किलोमीटर के एक बड़े दायरे मे फैला हुआ है.

मंगल ग्रह के कितने उपग्रह है?-Mars planet fact’s in hindi

इस ग्रह के दो चंद्रमा है.पहला चंद्रमा phobos है . जिसका diameter लगभग 22किलोमीटर और दूसरा चंद्रमा Demos है. जिसका Diameter 12 किलोमीटर है.यह चंद्रमा बहुत ही नजदीक से मार्स की परिक्रमा करते है. Phobos 11 घंटे मे मंगल का एक चक्कर पूरा करता है. जबकी Demos 30 घंटे मे मंगल का एक orbit पूरा करता है.

अभी तक मंगल पर 40 से भी ज्यादा mission भेजे जा चुके है. लेकिन 16 मिशन ही कामयाब रहे है.5 november 2013 को भारत की space agency इसरो ने मंगलयान launch करके एक नया कृतिमान हासिल किया था.24 सितम्बर 2014 को मंगलयान सफलता पूर्वक मंगल के orbit मे दाखिल हो गया.

मंगल ग्रह(Basics information about Solar system hindi) पर मनुष्य को भेजनें की भी तैयारीया की जा रही है. Space-X और NASA 2030 तक यह कारनामा कर सकती है

5. बृहस्पति ग्रह के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी हिंदी मे -About planet jupiter in hindi

Solar system hindi
Planet Jupiter

जुपिटर हमारे Solar system का पाँचवा सबसे बड़ा ग्रह है. Roman’s ने इस ग्रह का नाम अपने देवताओं के नाम पर ” जुपिटर ” रखा है. इस planet की संरचना बेहद ही अजीब है.


इस ग्रह के पास अपने rings भी है. सन 1610 मे galileo galilei ने जुपिटर के चार बड़े satellite खोजे जिन्हे galilens moon भी कहा जाता है. महान भारतीय Mathematician आर्यभट्ट ने सन 499 मे यह बताया की जुपिटर सूर्य (solar system information in hindi)का एक चक्कर 4332.2722 दिन यानी 11.86 साल मे लगाता है. जो की बिल्कुल सही है.

जुपिटर ग्रह का Diameter, 142984 किलोमीटर है. और इसकी density, 1.326g/cm^3 है. जो सभी giant planet मे दूसरे नंबर पर है. जुपिटर मुख्य रूप से gas और तरल पदार्थो का बना है. इसके atmosphere मे लगभग 75% hydrogen, और लगभग 24% helium है. बाकी 1% अन्य पदार्थ है

इसके atmosphere मे ammonia, water vapour, methen, और silicon compound के निशान(fantastics facts about Solar system hindi) भी मिले है. इस ग्रह की rotation को लेकर दो बाते बहुत ही खास है. 1.इसका rotation period सबसे छोटा है.2.दूसरा खास बात यहां है की इस ग्रह के अलग अलग हिस्से अलग अलग speed से घुमते है.

जुपिटर के atmosphere मे हल्के और गहरे रंग के bend दिखाई देते है. माना जाता है की इसके atmosphere मे gas के परतो मे pressure different होने के कारण बने हुए है. और इसी कारण जुपिटर के दो bends के बिच तूफ़ान बनते रहते है.

जुपिटर से जुडी कुछ महत्वपूर्ण बातें -(About Jupiter planet and Solar system hindi )

जितना ऊर्जा जुपिटर सूर्य(information about Solar system hindi) से लेता है. उससे कई गुना ज्यादा ऊर्जा यह space मे radiet कर देता है. क्युकी इसका core पथरीला है. जिसका तापमान लगभग 20,000°c है.

माना जाता है की जुपिटर केatmosphere मे तीन रीजन है. पहला है पथरीला the core जो पृथ्वी से लगभग 40 गुणा ज्यादा भारी है. दूसरे रीजन मे hydrogen, liquid रूप मे स्थित है. जो की पुरी तरह electrical conductive है. शायद इसी कारण जुपिटर के पास सबसे पावरफुल magnetic fields है.

इस ग्रह का magneto sphere 65 million किलोमीटर तक फैला है. जो की शनि ग्रह से आगे तक है. और तीसरी परत ordinary hydrogen और helium से भरी पड़ी है. जुपिटर पर ammonia sulphate और ammonia crystal के बादल मौजूद है. यहां पर हवाऔ की speed 300 km/h तक रहती है. जुपिटर सूर्य से 77.8करोड़ किलोमीटर दूर है. जो पृथ्वी की दुरी से 5 गुणा है.

सूर्य(Amazing facts about Solar system hindi) की रौशनी को इस ग्रह तक पहुँचने मे 43 मिनट का समय लगता है. जुपिटर पर हमारे solar system का सबसे छोटा दिन होता है.जो की 9 घंटे, 50 मिनट, 30 सेकंड का होता है.यह सूर्य का एक चक्कर 11.8 साल मे पूरा करता है. यानी की जुपिटर पर एक साल मे 4032 दिन होते है. अभी तक हम लोग इस ग्रह के 67 उपग्रह का पता लगा चुके है.जिनमे galileo द्वारा खोजे गए चार बड़े उपग्रह शामिल है.

Galileo prob पहला spacecraft था जिसने जिसने जुपिटर की परिक्रमा कीSolar system hindi

galileo galilei orbiter ने इस ग्रह के temperature को 300°c तक record किया और हवा की गति को 644km/h तक रिकॉर्ड किया. इस ग्रह के core के बारे मे हम ज्यादा कुछ नही जानते है

6. शनि ग्रह के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी – About Saturn in hindi

solar system in hindi information
Planet saturn

शनि हमारे solar system का छठा ग्रह है. साथ ही यहां हमारे Solar system का सबसे खूबसूरत ग्रह है. और रहस्यमय भी,

रोमन ने शनि को “father of jupiter “, “king of god” और “god of agricultural ” कहा है .शनि ग्रह वह आखिरी ग्रह था जिसे हमारे पूर्वज जानते थे. यह हमारे solar system का दूसरा सबसे बड़ा gas giant और बड़ा ही mysterious planet है. शनि ग्रह उन पांच दूर planets मे शामिल है जिन्हे नार्मल आँखों से देखा जा सकता है. और शायद इसीलिए हम इसे अतीत से जानते है

सन 1610 मे पहली बार saturn को galileo galilei ने telescopes से देखा.इसके बाद सन 1789 मे william hersail ने दो और उपग्रह खोजे.
इसके बाद उपग्रह की मानो लाइन लग गयी.शनि ग्रह का चंद्रमा टाइटन उन उपग्रह मे शामिल है. जहाँ जीवन की खोज की जा रही है.
माना जाता है की शनि ग्रह का core भी जुपिटर की तरह पथरीला है. जो की iron और निकल की बनी हो सकती है.

यह core पृथ्वी से काफी मिलती जुलती होंगी. पर शनि ग्रह का core पृथ्वी से ज्यादा dense होंगा . इसकी core का Diameter लगभग 25000 किलोमीटर है. यह core metallic hydrogen से ढका हुआ है. इसके बाद liquid hydrogen है. और सबसे ऊपरी परत gas hydrogen और helium का है.

इस ग्रह का core का तापमान 11700°c है. इसी कारण यह सूर्य(Everything about Solar system hindi) से मिलने वाली एनर्जी का 2.5% एनर्जी radiet कर देता है.सूर्य (Facts about Solar system hindi)से शनि ग्रह की दुरी लगभग 11.4 billion किलोमीटर है. सूर्य की रोशनी को इस ग्रह तक पहुँचने मे 1.5 घंटे का समय लगता है. जो 10759 earth days के बराबर है. इस ग्रह के atmosphere मे लगभग 96% hydrogen है. और 3.25% helium है.

शनि ग्रह से जुडी महत्वपूर्ण तथ्य (Saturn Planet Facts in Hindi) 

शनि ग्रह पर भी हर साल पृथ्वी की तरह मौसम बनते है.अगर शनि ग्रह पर एकदिन की बात की जाये तो हमारे solar system का दूसरा सबसे छोटा दिन होता है.जो लगभग 10 घंटे 45 मिनट का होता है. लेकिन यह value एक average value है.

जुपिटर की तरह शनि ग्रह के अलग अलग हिस्से अलग अलग speed से घुमते है.इसे समझने के लिए शनि ग्रह के तीन system बनाये गए थे.इस system मे शनि ग्रह के north, south pole और equator belt को system-1 मे रखा गया है. जो की 10 घंटे 14 मिनट मे एक चक्कर पूरा करते है.और बाकी बचे हुए हिस्सों को दूसरे system-2 मे रखा गया है.

जो अपना एक चक्कर 10 घंटे 25 मिनट मे पूरा करते है. इसके अंदर वाले हिस्से को system-3 मे रखा गया है जिनका orbit period 10घंटे 43 मिनट है.जुपिटर की तरह शनि ग्रह पर भी बदलो की परत है. इसकी सबसे ऊपरी परत ammonia crystal की है. और इसके निचले परत मे ammonium hydrasulphide और पानी के बादल भी पाए जाते है.

इसके ऊपरी बादलो के सतह का तापमान 170kelvin है. और pressure 2 bar रहता है. और इन बादलो मे सिर्फ ammonia ice ही पायी जाती है.शनि ग्रह पर दूसरे नंबर की सबसे तेज हवाएं चलती है. जो 500m/sec की रफ़्तार से चलती है.इस ग्रह का नार्मल temperature -185°c तक रहता है.(Saturn Planet Facts in Hindi) इस ग्रह को हमारे सौरमण्डल(Mindblowing facts Solar system hindi)का सबसे कम density वाला planet माना जाता है.

यह ग्रह अपनी planetary rings के लिए जानी जाती है. जो की इसे एक यूनिक planet बनाती है.Planet saturn की rings हम छोटे telescopes से भी देख सकते है. इन rings की चौड़ाई 1km से भी कम है.यह rings 93% water ice और 7% carbon से बनी है.

7.अरुण ग्रह के बारे मे जानकारी -About Uranus ice planet hindi

uranus in hindi
Planet Uranus Photographed as a featureless disc by Voyager 2 in 1986

13 march सन 1781 विज्ञान का सबसे महान दिन,Sir william herschel ने इसी दिन uranus को खोजा था.

जो की modern history मे हमारे द्वारा खोजा गया पहला ग्रह था. इसने शनि ग्रह तक सिमटें हमारे सीमा को और आगे तक बढ़ा दिया. यह telescopes से खोजा गया पहला ग्रह(images Solar system hindi) था. शुरूआती दिनों मे william herschel ने इसे एक comet मान लिया था.Swedish astronomers, Andrew john Lexel वह पहले person थे. जिन्होने herschel द्वारा खोजी गई object के orbit की गणना किया.

अपने इस calculation मे उन्होंने पाया की इस objects का orbit बिलकुल ही circular था.और जल्द ही पुरी दुनिया ने william herschel की इस Discovery को accept कर लिया. इन्होने इसका बड़ा ही अजीब नाम रखा था.बाद मे रोमन mythology के अनुसार इसका नाम Uranus रखा दिया गया.यह हमारे Solar system का सातवा ग्रह है. जो आकार मे तीसरा और भार मे चौथा सबसे बड़ा ग्रह है.

यह सूर्य से लगभग 3 billion किलोमीटर दूर है. सूर्य की रौशनी को इस planet तक पहुँचने मे 2.5 घंटे से ज्यादा समय लगता है. ज्यादा दुरी होने के कारण Uranus पर sun light की Intensity धरती के मुक़ाबले 400 गुणा कम है.इतना ज्यादा दुरी होने के कारण यह सूर्य (Solar system hindi)का एक चक्कर 84 साल मे पूरा करता है.

बाकी planets के मुक़ाबले इसकी rotation speed बिल्कुल अलग है. क्युकी यह 98° तक झुका हुआ है अपने orbit के,इसीलिए Uranus का north pole 42 सालो तक मुड़ा रहता है. सूर्य की तरफ और वहा 42 सालो तक दिन रहता है. जबकी southpole पर 42 सालों तक अंधेरा छाया रहता है.

अरुण ग्रह के बारे मे मजेदार बातें -(Interesting Facts about Uranus Planet in Hindi)

यह अपनी axis पर एक चक्कर 17 घंटे 14 मिनट मे पूरा कर लेता है.और यह हमारे सौरमण्डल (Solar system hindi)का सबसे कम density’ वाला ग्रह है.इसकी density 1.27g/cm^3 है. इसका भर पृथ्वी से लगभग 14.5 गुणा ज्यादा है.इसका pressure 8 million बार तक है.Uranus के मेंटल पायी जाने वाली बर्फ normal ice नही है. बल्कि यह बेहद ही dense और गर्म fluids है. जो की highly electrical conductive है.

इसका megnetic field भी अजीब तरह से सेंटर मे न होकर 60° तक झुका हुआ है.इस ग्रह के पास 27 उपग्रह है. कमाल की बात है की Uranus के सभी उपग्रह के नाम shakespeare और pop के writing से लिया गया है.सन 1977 मे launch किया गया voyoger-2 , 1986 मे Uranus के system मे दाखिल हुआ. यह 24 january, 1986 को Uranus के सबसे करीब था.

वरुण की तरफ जाने से पहले इसको Uranus के structure, chemical Composition और इसके atmosphere को study किया.

8. वरूण ग्रह की सम्पूर्ण जानकारी हिंदी मे-Planet Neptune in hindi

neptune orient lines
Planet neptune
Voyager 2 narrow angle camera. Image Credit: NASA/JPL

यह हमारे सौरमण्डल(Solar system hindi)का Eights सबसे सबसे दूर स्थित planets है यह आकार मे चौथा और भार मे तीसरा सबसे बड़ा planet है. साथ ही यह हमारे Solar system का सबसे dense planet भी है.

इसे हम अपनी normal आँखों से नही देख सकते है. चलिए इसके खोज के बारे मे बात करते है इसकी खोज बड़े ही दिलचस्प तरीके से हुई. Neptune पहला ऐसा ग्रह है जिसका खोज Mathematical prediction से हुई है. इसके खोज के credit को लेकर पूरे विश्व मे बहस चली.

सन 1821 मे एक Mathematician ने Uranus की Orbit के लिए एक theoretical table publish किया. पर जब observation की गयी तो orbit के location मे काफ़ी अंतर आ रहा था. जो इशारा कर रहा था की कोई अनजान बड़ी वस्तु Gravitational intrection के द्वारा Uranus के orbit को disturb कर रहे थी.

सन 1845 मे urbain Le verrier ने भी अपनी calculation के मुताबिक Uranus के बाद एक नया ग्रह होने का दावा किया.

इतना ज्यादा prediction होने के कारण astronomers ने इसे खोजना start कर दिया.आखिर 23 सितम्बर 1847 को astronomers ने इसे खोज निकाला. जब इसके position को को calculation से मैच किया गया तब यह urbain Le verrier के prediction के दायरे के 1° मे मिला.

जबकी यह नया ग्रह adam द्वारा predict किया गए. Equation के 12° दायरे मे था.पर बहस के कारण दोनों को इस खोज का credits दिया गया. दूसरे planets की तरह Neptune भी internal heat generate करता है. जो की सूर्य(Solar system hindi) से मिलने वाली एनर्जी का 2.61% से ज्यादा space मे radiet कर देता है.

इसके आलावा 13 अन्य उपग्रह और तीन planetary rings भी इसके atmosphere मे शामिल है .यह सभी knowledge हमें voyoger-2 से मिली है.

वरूण से जुडे महत्वपूर्ण तथ्य हिंदी मे (Neptune Planet Facts in Hindi)

इसका internal core आयरन, निकल, और silicate से बनी हुई है.

यह पृथ्वी से 1.2 गुणा भारी है. इसकी core का pressure 7 mega bar है. जो की पृथ्वी की core से दुगना है. और temperature 5400 kelvin है.

Neptune के बाहरी atmosphere मे 80% hydrogen और 19% helium पायी जाती है. बहुत कम मात्रा मे मीथेन भी पायी जाती है.

इसका average temperature -214°c रहता है.

सन 2007 को Neptune के southpole को इस planet का सबसे गर्म जगह माना गया. जिसका temperature लगभग 200°c था.

यह इतना गर्म इसलिए था क्युकी पिछले 40 सालों से Neptune का एक हिस्सा सूर्य(Solar system in hindi) की तरफ था.

यह planet सूर्य से 4.5 billion किलोमीटर दूर स्थित है. और यह सूर्य का एक चक्कर 164.79 earth years मे पूरा करता है.

Neptune अपनी तेज हवाऔ के लिए भी जाना जाता है. यहां पर सबसे तेज चलने वाली हवाओ की गति 600m/सेकंड से भी ज्यादा है.
जो की लगभग supersonic flow के बराबर है.

यहां पर चलने वाली ज्यादातर हवाऔ का Dirction इसकी rotation डायरेक्शन के ठीक opposite है.

सन 1989 ने Voyoger-2 अपने mission के दौरान Neptune पर एक बड़ा तूफ़ान खोजा था. जिसे the great dark spot नाम दिया गया.

Neptune ग्रह के अब तक 14 उपग्रह खोजे जा चुके है. इसका सबसे बड़ा उपग्रह triton है.

Triton को हमारे सौरमण्डल (Solar system in hindi)का सबसे ठंडा जगह माना जाता है

Neptune के orbit मे 99.9% भार triton से आता है.

Neptune का magnetic fields Uranus की तरह झुका हुआ है. और अपने center se बाहर है.
यह ऐसा क्यों है आज भी एक पहेली बना हुआ है.

तो friends ये article” सौर मंडल(About solar system in hindi) के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी in hindi “पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया. उम्मीद करता हुँ. कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा.