तिल खाने के गजब फायदे, कब और कितना खाना चाहिए (Sesame seeds meaning in Hindi)

You are currently viewing तिल खाने के गजब फायदे, कब और कितना खाना चाहिए (Sesame seeds meaning in Hindi)

हमारे आस-पास ऐसी कई चीजें हैं और इनके इस्तेमाल से सेहत को काफी फायदा होता है। इन्हीं में से एक है तिल(sesame seeds)। तिल(sesame seeds) के बीज(seed) हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छे होते हैं। इसमें कई पोषक तत्व होते हैं। ऐसे में सुबह उठते ही खाली पेट तिल(sesame seeds) का इस्तेमाल करना सेहत के लिए किसी फायदे से कम नहीं है। आज हम आपको सुबह उठते ही खाली पेट पके तिल(sesame seeds) खाने के फायदों के बारे में बताएंगे।

तिल(sesame seeds) के बीज(seed) जीनस सेसमम के पौधे से प्राप्त होते हैं और इसका वैज्ञानिक नाम सेसमम इंडिकम है। तिल(sesame seeds) के बीज(seed) को सबसे पुराना बीज(seed) तेल उत्पाद माना जाता है और 3500 से अधिक वर्षों से इसकी खेती की जाती है। यह आमतौर पर अफ्रीका और भारत में उगाया जाता है तिल(sesame seeds) के बीज(seed) बहुत छोटे, 3-4 मिमी लंबे और 2 मिमी चौड़े होते हैं। ये बीज(seed) विभिन्न रंगों में उपलब्ध हैं। वे आमतौर पर सलाद के लिए उपयोग किए जाते हैं। कैमोमाइल का उपयोग आपको लगभग सभी पारंपरिक व्यंजनों में मिल जाएगा।

Read this-चाय पीने के 20 फायदे और नुकसान संपूर्ण जानकारी(Chai Peene ke fayde)

तिल(sesame seeds) के फायदे(Til ke Fayde)

तिल(sesame seeds) चाहे सफेद हो या काला, हर दाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। इसमें विटामिन ए और सी को छोड़कर सभी जरूरी पोषक तत्व होते हैं, जो सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। तिल(sesame seeds) में आयरन, जिंक, प्रोटीन, कॉपर, मैग्नीशियम और कैल्शियम भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो विटामिन बी और फैटी एसिड से भरपूर होता है। . 100 ग्राम तिल(sesame seeds) से 1000 मिलीग्राम कैल्शियम प्राप्त होता है, जो हड्डियों के लिए भी अच्छा माना जाता है। तिल(sesame seeds) का प्रभाव गर्म होता है इसलिए इसे सर्दियों में खाने से शरीर को ऊर्जा मिलती है। इसलिए ज्यादातर लोग सर्दी शुरू होते ही डाइट में तिल(sesame seeds) को शामिल कर लेते हैं।

हड्डियों को मजबूत बनाने में

तिल(sesame seeds) खाने से हड्डियां मजबूत होती हैं। सेसामाइन एंटीऑक्सिडेंट में भी पाया जाता है, जो कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकने में मदद करता है। आंकड़ों के मुताबिक 35 साल के बाद हड्डियों का द्रव्यमान कम होने लगता है और हड्डियां कमजोर होने लगती हैं।जब तिल(sesame seeds) को पकाकर निकाल दिया जाता है तो उसका पोषण मूल्य बदल जाता है। हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए तिल(sesame seeds) में निम्नलिखित खाद्य पदार्थ पाए जाते हैं।(1) कैल्शियम: कच्चे तिल(sesame seeds) में 22% RDI और पके तिल(sesame seeds) में 1% (3)मैग्नीशियम: कच्चे तिल(sesame seeds) में 25% RDI। और उबले हुए तिल(sesame seeds) में 25%. (5)(जिंक): कच्चे तिल(sesame seeds) में 21% आरडीआई। और पके तिल(sesame seeds) में 18%.

सूजन को कम करने मे

तिल(sesame seeds) के सेवन से सूजन को भी कुछ हद तक कम किया जा सकता है। लंबे समय तक सूजन रहने से कई तरह की बीमारियां भी हो सकती हैं। जैसे मोटापा, कैंसर, क्रोनिक और किडनी रोग आदि। अध्ययन के अनुसार किडनी की समस्या से पीड़ित व्यक्ति अगर 3 महीने तक 18 ग्राम अलसी, 6 ग्राम तिल(sesame seeds) और कद्दू का सेवन करे तो उसकी किडनी की समस्या 51 से 79 प्रतिशत तक कम हो सकती है।

इम्यूनिटी बढ़ाने में

तिल(sesame seeds) खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है। यह विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों का अच्छा स्रोत है: जिंक, सेलेनियम, कॉपर, आयरन, विटामिन बी6 और विटामिन ई लाभकारी प्रभाव में मौजूद होते हैं। सफेद रक्त कोशिकाओं के कार्य करने और शरीर में बढ़ने के लिए जिंक आवश्यक है। यह तिल(sesame seeds) में पाया जाता है। पर्याप्त मात्रा में जिंक नहीं होने से आपका शरीर कमजोर हो सकता है।

तिल(sesame seeds) का सेवन ह्रदय स्वास्थ्य करने मे

तिल(sesame seeds) का तेल एथेरोस्क्लेरोसिस को रोकता है और इसलिए सामान्य स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। इनमें सेसमोल नामक एक एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी यौगिक होता है, जिसमें एथेरोजेनिक गुण होते हैं। तो यह हृदय स्वास्थ्य में सुधार करता है। तिल(sesame seeds) के बीज(seed) में मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड और ओलिक एसिड होता है, जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है और शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बनाए रखने में मदद करता है। यह स्ट्रोक के खतरे को कम करता है।

तिल खाने के कुछ अन्य फायदे

तिल(sesame seeds) के बीज(seed) शरीर में सूजन को दूर करने में कारगर होते हैं। इसमें उच्च मात्रा में तांबा होता है, जो जोड़ों, हड्डियों और मांसपेशियों के लिए फायदेमंद माना जाता है। साथ ही गठिया के दर्द को भी दूर किया जा सकता है। – तिल(sesame seeds) में मौजूद कॉपर ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में फायदेमंद माना जाता है। तिल(sesame seeds) के बीज(seed) मुंह में बैक्टीरिया को मार सकते हैं।

तिल(sesame seeds) में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कैंसर के खतरे को कम करते हैं। तिल(sesame seeds) में बहुत अच्छा मैग्नीशियम होता है, जो मधुमेह से छुटकारा दिलाने के साथ-साथ इंसुलिन के उत्पादन में मदद करता है।ये हरी सब्जियां आपकी ढाल हो सकती हैं, आप इन्हें अपने आहार में शामिल करके 6 आश्चर्यजनक लाभ प्राप्त कर सकते हैं। ऐसे तत्व और विटामिन उपलब्ध हैं जो तनाव और अवसाद को कम करने में मदद कर सकते हैं।

Read this-चना(gram) खाने के 20 गजब फायदे,चना(gram) खाने का सही तरीका(About chicken pea in hindi)

यह article “तेल खाने के गजब फायदे, कब और कितना खाना चाहिए(Sesame seeds meaning in Hindi) “पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया उम्मीद करता हुँ। कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा।