विज्ञान क्या है। परिभाषा, प्रकार और उपयोग-What is science in hindi

विज्ञान क्या है। परिभाषा, प्रकार और उपयोग-What is science in hindi

विज्ञान की परिभाषा” प्रकृति मे उपलब्ध किसी विशिष्ट और क्रमबद्ध ज्ञान को विज्ञान कहते हैं “विज्ञान(science)शब्द की उत्पत्ति लैटिन शब्द”scientia” से हुई है।

आज जीवन का हर क्षेत्र विज्ञान(what is science in hindi)के बिना अधूरा है यहां तक कि जमीन की सीमाओं को पार कर आज आदमी चांद और सूरज तक को स्पर्श कर रहा है। लाखों करोड़ों मीलों की दूरियां सिमटकर जैसे हमारी मुट्ठी में आ गई है। विज्ञान ने जीवन को सरलतम बना दिया है।

मनुष्य ने अपने विकास की प्रारंभिक अवस्था में प्रकृति को देखा और समझा शायद पहले पहल वह थोड़ा डरा और झिझका परंतु धीरे-धीरे उसने प्रकृति की महान शक्तियों का उपयोग करना सीख लिया। पत्थरों से आग जलाई और फिर आग को स्थाई सरक्षण के लिए उपाय किये।

सच तो यह है कि एक वैज्ञानिक वास्तव में जन्मजात विद्रोही होता है किसी भी शक्ति को नहीं मानता चाहे वह प्रकृति की शक्ति हो या मानवी शक्ति।

अपने इसी सत्य की खोज मे कितने ही महान वैज्ञानिकों को जेल की चारदीवारी के अंधेरे में घुट घुट कर दम तोड़ना पड़ा तो कितना को अंधा होकर जीवन गुजारना पड़ा कितने ही जिंदा जला दिए गए तो कितने को अपमानित होकर अपना ही जन्म भूमि का त्याग करना पड़ा लेकिन इन सारी मुसीबतों के बावजूद सत्य की खोज निरंतर जारी रहा।

विज्ञान की मुख्य शाखाएं क्या है-Main branches of science in hindi

विज्ञान को उनके अध्ययन के अनुसार विभिन्न वर्गों में बांट दिया गया जो निम्नलिखित हैं।

विज्ञान के निम्नलिखित मुख्य शाखाएं है।

1) प्राकृतिक विज्ञान(Natural science in hindi)

प्राकृतिक विज्ञान की भी दो मुख्य शाखाए है।

a) वनस्पति विज्ञान( botany)– वनस्पति विज्ञान के अंतर्गत पेड़ पौधे से संबंधित चीजों का पूर्ण अध्ययन किया जाता है।

वनस्पति विज्ञान की कुछ मुख्य शाखाएं-

वर्गिकी(Taxonomy) इसके अंतर्गत हम पौधों के वर्गीकरण का अध्ययन करते हैं।
आकारिकी(Morphology) इसके अंतर्गत हम पौधों के विभिन्न आकार और उसकी बाहरी संरचना का अध्ययन करते हैं।
शारीरिकी(Anatomy)
इसके अंतर्गत हम पौधों के आंतरिक संरचना का अध्ययन करते हैं।
भौतिकी(Histology) इसके अंतर्गत हम पौधों में पाए जाने वाले विभिन्न प्रकार के ऊतकों का अध्ययन करते हैं।
शरीर क्रिया विज्ञान(physiology) इसके अंतर्गत पौधों में होने वाली संपूर्ण जैविक क्रियाओं का अध्यान करते हैं।
कोशिका विज्ञान(Cytology) इसके अंतर्गत कोशिका की आंतरिक संरचना और उसके कार्य और गुणों का अध्ययन किया जाता है।
अनुवांशिकी(Genetics) इसके अंतर्गत वनसागति के नियमों और विभिन्नताओ का अध्ययन किया जाता है।
भूर्ण विज्ञान(Embryology) इसके अंतर्गत पौधों के जन्म क्रियाओं से लेकर भूर्ण निर्माण और विकास का अध्ययन किया जाता है।
पूरा-वनस्पति विज्ञान(Palaeobotany) इसके अंतर्गत हम पौधों में जीवाश्म का बनना और उसके बाहरी संरचना का अध्ययन करते है।
वनस्पति भूगोल(Plant geography) पृथ्वी पर अलग-अलग जगह पर पौधों का वितरण का अध्ययन किया जाता है।

b) जंतु विज्ञान( Zoology)– जंतु विज्ञान ग्रीक भाषा के दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है इसमें(Zoon=Animal +logos=study) जिसका मतलब होता है जंतुओं का अध्ययन। अतः जंतु विज्ञान विज्ञान की वह शाखा है जिसके अंतर्गत समस्त जंतुओं का अध्ययन किया जाता है।

जंतु विज्ञान की मुख्य शाखाएं-

भूर्ण विज्ञान(Embryology) इसके अंतर्गत जंतुओं के भूर्ण विकास का अध्ययन किया जाता है।
यूथैनिक्स(Euthenics) इसमें मनुष्य के आधुनिक पीढ़ी का पालन पोषण का अध्ययन किया जाता है।
प्राणी-भूगोल(Zoogeography) इसमें प्राणियों के पृथ्वी पर वितरण का अध्ययन किया जाता है।
आंटोजेनी(Ontogeny) इसमें जंतुओं के वर्धन द्वारा जीवन चक्र का अध्ययन किया जाता है।
सूक्ष्म जैविकी(Microbiology) इसके अंतर्गत सूक्ष्म जीवों का अध्यन किया जाता है।

2)भौतकीय विज्ञान (physical science in hindi)-भौतकीय विज्ञान की भी मुख्य दो शाखाएं हैं-

a) भौतिक विज्ञान(physics)– भौतिक विज्ञान के अंतर्गत हम द्रव, ऊर्जा और इनकी अन्य क्रियाओं का अध्ययन करते है।

भौतिक विज्ञान एक शुद्ध प्राकृतिक विज्ञान है इसका सदुपयोग या दुरुपयोग करना मानव के विवेक पर निर्भर करता है यह सत्य की खोज करता है और यथार्थ का दर्शन भी कर आता है।

b) रसायन विज्ञान(chemistry)– यह विज्ञान की वह शाखा है जिसके अंतर्गत पदार्थों के गुण, संगठन और संरचना तथा उनमें होने वाले परिवर्तनों का अध्ययन किया जाता है।

रसायन विज्ञान शब्द की उत्पत्ति मिस के प्राचीन शब्द कीमियां(chemia)से हुई है। जिसका अर्थ है काला रंग मिस्र के लोग काली मिट्टी को केमी कहते थे

विज्ञान के चमत्कार-Miracle of science in hindi

आज का युग विज्ञान का युग है जिधर नज़र डालो विज्ञान के चमत्कार दिखाई पड़ते है। आज उपलब्ध सभी सुख सुविधाएं विज्ञान की ही देन है। आज विज्ञान ने हमे एक जादुई नगरी मे पहुंचा दिया है।

आज विज्ञान के कारण ही हमारी जरूरत की सभी सुख सुविधाएं उपलब्ध है। बिजली और उनसे चलने वाले सभी जादुई उपकरण विज्ञान की देन है।

आज विज्ञान हमारी प्रगति और विकास का आधार बन चूका है। विज्ञान के बिना हम जीवन व्यतीत करने के बारे सोच भी नहीं सकते है। आज पूरा विश्व हमारे पहुंच के अंदर है। सोचो और पलक झपकते सब कुछ संभव हो जाता है।

पृथ्वी को नाप कर समुद्र को लांग कर इंसान ने आकाश की ऊंचाइयों को विज्ञान द्वारा हासिल किया है। कुछ दशकों में विज्ञान में इतने परिवर्तन हुए जो पिछले 2000 सालों में संभव नहीं हो पाए। आज विज्ञान ने हमें उन उपलब्धियों पर पहुंचा दिया है जिनके बारे मे कल्पना करना भी एक समय असंभव सा लगता था।

एक समय जिन चीजों को हम जादुई समझते थे आज वह आम सी हो गई है। यह सभी चीजें विज्ञान के द्वारा ही संभव हो पाई है।

ये article ” विज्ञान क्या है। परिभाषा, प्रकार और उपयोग-What is science in hindi ” पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया. उम्मीद करता हुँ. कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा