Compound किसे कहते है, Compound का मतलब, परिभाषा, उपयोग ( Compound meaning in hindi)

You are currently viewing Compound किसे कहते है, Compound का मतलब, परिभाषा, उपयोग ( Compound meaning in hindi)

हेलो दोस्तों आज इस आर्टिकल में हम जानेंगे Compound meaning क्या होता है, different types of Compound क्या होता है। Compound किसे कहते है। Compound का मतलब क्या होता है। अगर आपको Compound के बारे जानकारी नहीं है। तो आप बिल्कुल सही जगह आये है। आर्टिकल के अंत तक आपको Compound से जुडी बेसिक जानकारी मिल जाएगी।

Compound का हिन्दी मतलब-यौगिक

यौगिक किसे कहते है(What is Compound in hindi)

यौगिक वह शुद्ध पदार्थ है जो दो या अधिक तत्त्वों के भार के विचार से एक निश्चित अनुपात में रासायनिक संयोग के फलस्वरूप बनता है। यौगिक को किसी रासायनिक क्रिया द्वारा विघटित करके दो या अधिक सरल तत्त्व प्राप्त किए जा सकते हैं।

यौगिक के बनने में उसके अवयवी तत्त्वों के अपने गुण गायब हो जाते हैं। उदाहरण के लिए, लौह चूर्ण और गंधक के चूर्ण को भार के विचार से 7 : 4 के अनुपात में मिश्रित कर गर्म करने से भूरे-काले रंग का फेरस सल्फाइड बनता है। इस फेरस सल्फाइड में लोहा और गंधक के अपने अपने गुण नहीं पाए जाते हैं। अतः, फेरस सल्फाइड लोहा और गंधक के रासायनिक संयोग से बना एक यौगिक है।

किसी यौगिक की रासायनिक संरचना ज्ञात रहने पर उसे एक रासायनिक सूत्र द्वारा व्यक्त किया जाता है। उदाहरण के लिए, कैल्सियम (Ca) और ऑक्सीजन (O) के संयोगसे बना चूना एक यौगिक है। इसका रासायनिक सूत्र Cao होता है।

इसी प्रकार, हाइड्रोजन (H) और ऑक्सीजन (O) के संयोग से बना जल एक यौगिक है, जिसका रासायनिक सूत्र H2O होता है। यौगिक के अन्य उदाहरण हैं—अमोनिया (NH3 ),कार्बनडाइऑक्साइड (CO2), चूना-पत्थर(CaCO3), हाइड्रोजन क्लोराइड(HCI), अमोनियम क्लोराइड (NH4.CI) आदि।

यौगिक के प्रमुख गुण(Properties of compound)

यौगिक के प्रमुख गुण निम्नलिखित हैं।

यौगिक के अवयवी तत्त्वों को किसी भी यांत्रिक या भौतिक विधि द्वारा अलग-अलग नहीं किया जा सकता है।

उदाहरण के लिए, आयरन सल्फाइड (फेरस सल्फाइड) को लें। यह लोहा और गंधक के संयोग से बना एक यौगिक है। यदि फेरस सल्फाइड के एक नमूने के निकट एक चुंबक को लाया जाए तो फेरस सल्फाइड में उपस्थित लोहा चुंबक की ओर आकर्षित नहीं होता है। इसका कारण यह है कि फेरस सल्फाइड में लोहे का अपना विशिष्ट गुण नहीं रहता है।

इसी प्रकार, गंधक अपने विशिष्ट गुण के कारण कार्बन डाइसल्फाइड में घुल जाता है। किंतु फेरस सल्फाइड में कार्बन डाइसल्फाइड मिलाने पर फेरस सल्फाइड में उपस्थित गंधक कार्बन डाइसल्फाइड में नहीं घुलती है, क्योंकि फेरस सल्फाइड में गंधक का अपना विशिष्ट गुण कायम नहीं रहता है। इससे स्पष्ट हो जाता है कि फेरस सल्फाइड के अवयवी तत्त्वों (लोहा और गंधक) को भौतिक विधियों द्वारा अलग-अलग नहीं किया जा सकता है।

किसी यौगिक के गुण उसके अवयवी तत्त्वों के गुणों से बिलकुल भिन्न होते हैं।

उदाहरण के लिए, हाइड्रोजन और ऑक्सीजन के संयोग से बना जल एक यौगिक है। किंतु जल के गुण हाइड्रोजन और ऑक्सीजन दोनों के गुणों से बिलकुल भिन्न होते हैं। हाइड्रोजन और ऑक्सीजन दोनों ही गैस हैं, जबकि जल एक द्रव है। इसके अतिरिक्त, हाइड्रोजन एक ज्वलनशील गैस है।

ऑक्सीजन अज्वलनशील, किंतु ज्वलन का पोषक होता है। जल न तो ज्वलनशील होता है और न ज्वलन का पोषक ही। सोडियम एक ठोस एवं अतिक्रियाशील धातु है और क्लोरीन तीखी गंधवाली एक गैस। इसके अतिरिक्त सोडियम और क्लोरीन दोनों ही विषैले होते हैं। किंतु, इन दोनों के संयोग से बना यौगिक सोडियम क्लोराइड हमारे दैनिक भोजन का अति आवश्यक अवयव है। अतः, सोडियम क्लोराइड के गुण सोडियम और क्लोरीन, दोनों के गुणों से भिन्न हैं।

किसी यौगिक के बनने में ऊष्मा या प्रकाश के रूप में ऊर्जा का प्रायः उत्सर्जन या अवशोषण होता है।

उदाहरण के लिए, (i) हाइड्रोजन या ऑक्सीजन गैसों को परस्पर मिश्रित कर देने पर उनके बीच तब तक अभिक्रिया नहीं होती है जब तक कि मिश्रण में विद्युत चिनगारी न उत्पन्न की जाए। उपर्युक्त मिश्रण को ऊर्जा की आपूर्ति होने पर दोनों गैसें परस्पर संयोग करके जल बनाती हैं।

(ii) यदि लोहा और गंधक के मिश्रण को साधारण ताप पर ही रहने दिया जाए तो उनके बीच तब तक अभिक्रिया नहीं होती है जब तक कि मिश्रण को गर्म न किया जाए। गर्म करने पर लोहा और गंधक तीव्रता से अभिक्रिया करके फेरस सल्फाइड बनाते हैं।

यौगिक में उसके अवयवी तत्त्व भार के विचार से एक निश्चित अनुपात में रहते हैं।

उदाहरण के लिए, (i) जल में, चाहे उसे किसी भी स्रोत से प्राप्त किया जाए, हाइड्रोजन और ऑक्सीजन का भार के विचार से अनुपात हमेशा 1 : 8 रहता है। अर्थात जल में हाइड्रोजन और ऑक्सीजन के भारों का अनुपात स्थिर रहता है।

(ii) कार्बन और ऑक्सीजन के संयोग से बने यौगिक कार्बन डाइऑक्साइड में भार के विचार से कार्बन और ऑक्सीजन का अनुपात हमेशा 3 : 8 रहता है।

यौगिक के द्रवणांक और क्वथनांक निश्चित होते हैं। उदाहरण के लिए, बर्फ हमेशा 0 °C पर पिघलता है और जल हमेशा 100 °C पर उबलने लगता है।

यौगिक एक समांग पदार्थ है; अर्थात यौगिक के संघटन और गुण सर्वदा एकसमान रहते हैं। उदाहरण के लिए, लोहा और गंधक के संयोग से बने यौगिक फेरस सल्फाइड के चूर्ण को एक माइक्रोस्कोप से देखा जाए तो लोहे और गंधक के कण अलग-अलग नहीं दिखाई पड़ते हैं।

रासायनिक यौगिक (Chemical compounds)-

चूँकि तत्त्वों के रासायनिक संयोग के फलस्वरूप यौगिक बनते हैं, इसलिए इन्हें रासायनिक यौगिक भी कहा जाता है।

हमने क्या सीखा

दोस्तों इस आर्टिकल मे हमने जाना Compound meaning क्या होता है, different types of Compound क्या होता है। Compound किसे कहते है। Compound का मतलब क्या होता है। Compound से जुड़े हमें जितनी भी जानकारी प्राप्त हुई। उसे हमने आपके सामने प्रस्तुत किया है। अगर आपके मन में इस आर्टिकल से संबंधित कोई डाउट है। तो आप बेफिक्र होकर हमें कमेंट या ईमेल कर सकते हैं।

compound meaning in hindi,compound meaning in english,compound meaning in chemistry,a chemical compound meaning,a saturated compound meaning,compound meaning biology,compound meaning biochemistry,compound meaning chemistry,compound meaning chemical,compound meaning elements,

यह article “Compound किसे कहते है, Compound का मतलब, परिभाषा, उपयोग ( Compound meaning in hindi) “पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया उम्मीद करता हुँ। कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा।