हवाई जहाज का स्वर्णिम इतिहास- Aeroplane in Hindi

हवाई जहाज का स्वर्णिम इतिहास- Aeroplane in Hindi

Aeroplane in Hindi-इस धरती पर हम इंसानों की जाति ने घोड़ा गाड़ी से लेकर बुलेट ट्रेन तक चलाएं हैं और धरती की दूरी को छोटा कर दिया है। पानी के जहाजों को बनाकर महाद्वीपों को और करीब लेकर आ गए हैं। 18 वीं सदी मे हॉट एयर बैलून के आविष्कार के साथ मानव जाति की उड़ान आरंभ हुई इसके बाद राइट बंधुओं द्वारा सबसे पहला हवाई वाहन(aeroplane in Hindi)का निर्माण हुआ।

एरोप्लेन का इतिहास- History of aeroplane in Hindi

एरोप्लेन का इतिहास देखें तो इससे जुड़ी कई रोचक कहानियां देखने में आती है कहीं इकेरस ने खुद को पंख लगाए तो वहीं दूसरी ओर पुष्पक विमान जैसे किस्से भी सामने आए। कई सभ्यताओं के कहानियों में मनुष्यो खुद को पतंग से भी उड़ाया है।

परंतु आधुनिक युग में एरोप्लेन की शुरुआत 1783 में मोंटगोल्फीयर भाइयों द्वारा विकसित हवा से हल्की गर्म हवा के गुब्बारे के साथ हुई। गर्म हवा के उड़ान के सिद्धांत पर कई डिजाइन बने और इसी सिद्धांत को अपनाते हुए एक कठोर एयरशिप का डिजाइन भी तैयार किया गया। जो यात्रियों और माल को बहुत दूरी पर ले जाने वाला पहला एरोप्लेन बन गया।

अब वैज्ञानिक नए सिरे से सोच रहे थे इसी बीच कई विशेषज्ञों ने हवा से भरी स्थिर पंख वाली उड़ान मशीन के रूप में आधुनिक हवाई जहाज की कल्पना पर कार्य किया। और कुछ हद तक सफल भी हुए। परंतु 17 दिसंबर 1930 को राइटबंधुओ के अविष्कार ने( invention of aeroplane in Hindi) हवाई जहाज की उड़ान को सफलतापूर्वक परिभाषित किया। इसी विषय में आगे बढ़ते हुए आधुनिक विमानों का विकास हुआ जिसमें डग्लस डीसी-3 उस अवधि का सबसे सफल एयरलाइनर बना और इस प्रकार यात्री हवाई जहाज के आधुनिक युग की शुरुआत हुई।

विश्व युद्ध में हवाई जहाजों का योगदान- Importance of aeroplane in Hindi

प्रथम विश्वयुद्ध मे हवाई जहाज सेना का सबसे पहले इस्तेमाल किया गया। उस समय हवाई जहाज का इस्तेमाल दुश्मनों की हलचल पर निगरानी रखने के लिए किया जाता था। फिर बाद में इसका इस्तेमाल बम वर्षक के रूप में किया गया और लड़ाकू जहाजों का आविष्कार हुआ।

द्वितीय विश्व युद्ध की शुरुआत तक कई शहरों में हवाई अड्डे का निर्माण हो चुका था और कई योग्य पायलट उपलब्ध थे। इन लड़ाकू विमानों ने पूरे युद्ध की दिशा ही बदल के रख दी थी। इन्हीं विमानों से नागासाकी और हिरोशिमा पर परमाणु हमले किए गए थे जो आज भी हमारे इतिहास के पन्नों में एक दाग बनकर छप गया है।

एरोप्लेन के उपयोग-Uses of aeroplane in hindi

आज के आधुनिक युग में हवाई जहाजों के बहुत अलग-अलग वर्जन बना लिए गए हैं जिनका अपना अलग-अलग कार्य है।

सेना में प्रयोग-

युद्ध क्षेत्र में हवाई जहाजों के आगमन में सेना और सुरक्षा में व्यापक बदलाव लाते हुए एक वायु सेना का निर्माण किया है। आज हमने ऐसे हवाई जहाजों(aeroplane invention in Hindi)का निर्माण किया है जिसमें पायलट की जरूरत नहीं पड़ती है इसके सारे डिसीजन हम एक बंद कमरे में बैठ कर ले लेते हैं। मिसाईल मशीन गन, रॉकेट गाइडेड मिसाइल और बम आदि जैसे लड़ाकू विमानों ने युद्धों में हवा का रुख ही बदल दिया है।

वायु यातायात मे उपयोग-

हवाई जहाजों के बढ़ते उपयोग के चलते वायु यातायात मे इसका अपना महत्व है। इनकी सहायता से हम कहीं भी यात्रा कर सकते हैं। ऐसे हवाई जहाजों का निर्माण आम लोगों की जरूरत को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है। जिसके अंतर्गत एयरलाइंस कंपनियां आपसे कुछ पैसा लेती हैं और आपको मनचाही जगह पर पहुंचा देती हैं।

हवाई अग्निशमन-

तेजी से फैलती हुई और कठिनाई से बुझने वाली आग चाहे वह जंगल की हो या शहरों की उसको रोकने के लिए भी विमानों का उपयोग कर हवाई अग्निशमन का उपयोग किया जाता है।

आग को बुझाने के लिए हवाई जहाज या हेलीकाप्टर से पानी, अग्निशमन रसायन हेलीकॉप्टर द्वारा फेंका जाता है। इन पर छोटे बड़े टैंक लगे होते हैं जिनमें झील, नदियां जलाशय आदि पर पानी भर अग्नीपथ फेंकते हैं और उसे शांत करते हैं। इसके अलावा भी हवाई जहाजों(Aeroplane in Hindi)का कई क्षेत्रों में उपयोग किया जाता है।