DNA का फुल फॉर्म क्या है, DNA क्या है (About DNA full form information)

You are currently viewing DNA का फुल फॉर्म क्या है, DNA क्या है (About DNA full form information)

हेलो दोस्तों नमस्कार आज इस आर्टिकल में हम जानेंगे DNA क्या होता है, DNA का full form क्या होता है। DNA के अंदर क्या होता है। DNA कैसे बनता है। अगर आपको DNA के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। तो आप सही जगह आए हैं। आर्टिकल के अंत तक आपको DNA से जुड़ी बेसिक जानकारी मिल जाएगी।

DNA का फुल फॉर्म-Deoxyribonucleic Acid

DNA क्या है

आप सभी जानते हैं हमारा शरीर कोशिकाओं से मिलकर बना होता है। प्रत्येक कोशिका में DNA पाया जाता है, (RBC को छोड़कर) डीएनए हमें हमारी पहचान देने के लिए उत्तरदाई होते हैं। क्योंकि इसके अंदर हमारे विकास की सारी जानकारी स्टोर होती है।

जिस प्रकार हम मेमोरी में songs, videos को store करके रखते हैं। ठीक उसी प्रकार डीएनए में भी हमारे विकास की जानकारियां store रहती है। जो पीढ़ी दर पीढ़ी transfer होती रहती है। यही कारण है कि आने वाली पीढ़ी अपने पिछली पीढ़ी से उन्नत और विकसित होती है।

DNA का फुल फॉर्म

DNA का फुल फॉर्म Deoxyribonucleic Acid है। अधिकांश डीएनए सेल्स के न्यूक्लियस में पाए जाते हैं। DNA जैविक अम्ल और नाइट्रोजन ग्रुप से मिलकर बना होता है। मनुष्य में पाए जाने वाले DNA का 99% भाग एक जैसा होता है। DNA एक लंबी जंजीर जैसा दिखने वाला अणु होता है। जो हमारे अंदर अनुवांशिक विशेषताओं को encode करता है। DNA से मिलकर GENE बने होते हैं।

DNA की संरचना कैसी होती है

About DNA full form-डीएनए घुमावदार सीढ़ीनुमा आकृति जैसे होते हैं। जिन्हें डबल हेलिक्स कहा जाता है। न्यूक्लियोटाइड्स का डबल स्टैंडर्ड पॉलीमर डीएनए होता है। डीएनए हर न्यूक्लियोटाइड्स में पाए जाते हैं।

फॉस्फेट अणु, नाइट्रोजन के ग्रुप, एडिनाइन-A, साइटोसीन-C, गोवानीन-G और थाइमिन-T यह सभी मिलकर DNA अनुवांशिक कोड को बनाते हैं। यह सभी जिस क्रम में जुड़े होते हैं उन्हें DNA sequence कहा जाता है। DNA अपनी हुबहू copy बना सकता है। और यह प्रक्रिया कोशिका विभाजन के लिए महत्वपूर्ण है।

कोशिका विभाजन के समय बना नया DNA है। 100% पुराने डीएनए के समान होता है। लेकिन कभी-कभी अगर यह समान नहीं होता है जिसके कारण बॉडी में harmful mutation देखने को मिलता है। आप डीएनए को किसी मेमोरी कार्ड से तुलना कर सकते हैं। 1 ग्राम डीएनए में 70 टेराबाइट इंफॉर्मेशन को स्टोर किया जा सकता है।

DNA की खोज किसने की ?

DNA की खोज सबसे पहले जर्मन बायोलॉजिस्ट Friedrich Miescher ने 1869 मे किया था। फिर 1953 मे James watson, Francis crick, Maurice Wilkins और Rosalind Franklin ने मिलकर डीएनए का डबल हेलिक्स संरचना को खोज निकाला। इसके बाद ही हमें पता चला कि डीएनए Biological इंफॉर्मेशन को इकट्ठा करके रख सकता है।

इस खोज के लिए James watson, Francis crick, Maurice Wilkins को 1962 Nobel Prize से नवाजा गया।

DNA की भूमिका

DNA हमारे अंदर genetic information को ट्रांसफर करने का काम करते हैं। DNA खुद की नकल करके अपने जैसे DNA बनाते हैं। जिससे शरीर में क्रोमोसोम की संख्या नियंत्रित रहती है। genetic information को एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में भेजने का काम भी DNA करता है।

DNA TEST क्या है

Full form of DNA-हर इंसान के DNA में उसके पूर्वजों की जानकारी छुपी होती है। DNA-test किसी जेनेटिक बीमारी का पता लगाने के लिए किया जाता है। छोटे बच्चे में उसके माता-पिता के जीन मौजूद होते हैं। अगर बच्चा कहीं खो जाता है तो फिर डीएनए टेस्ट के जरिए उसके माता-पिता का पता लगाया जा सकता है। forensic science मे DNA टेस्ट के माध्यम से अपराधियों को पकड़ा जाता है। बच्चों के जन्म से पहले उनका DNA टेस्ट करवाकर genetic disorders का पता लगाया जा सकता है।

आज हमारा विज्ञान इतना विकसित हो चुका है कि आपके डीएनए टेस्ट से यह भी पता लगाया जा सकता है कि आपके पूर्वज दुनिया के कौन से हिस्से से आए थे। अभी भी इस फील्ड में हमारे वैज्ञानिक दिन रात नई चीजों को खोजने में लगे होंगे। दोस्तों आने वाली पीढ़ियां हमें और चौंकाने वाली है। क्योंकि वह हमसे विकसित और ज्यादा बेहतर होंगे।

यह article “DNA का फुल फॉर्म क्या है, DNA क्या है (About DNA full form information) “पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया उम्मीद करता हुँ। कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा।