DM full form क्या है, DM कैसे बना जाता है(About Full form of Dm)

DM full form क्या है, DM कैसे बना जाता है(About Full form of Dm)

हेलो दोस्तों आज इस पोस्ट में हम जानेंगे। DM full form क्या होता है, Full form of DM क्या है। DM कैसे बना जाता है। DM बनने के लिए आपको किन तथ्यों का ध्यान रखना चाहिए। क्या आप भी डीएम बनना चाहते हैं। तो आपको क्या करना चाहिए।

Full form of DM के अलावा हम डीएम के काम और उसके अधिकारों की भी बारे में जाने वाले है। अगर आप civil services की तैयारी कर रहे हैं। तब आपको full form of DM के बारे में जानना और ज्यादा आवश्यक हो जाता है।

DM full form-“District Magistrate”

DM full form क्या है।

DM यह नाम आपने कहीं ना कहीं जरूर सुना होगा। पर क्या आपको इसका पूरा मतलब पता है। DM का फुल FORM “District Magistrate” होता है। जिसको हिंदी में जिला अधिकारी कहा जाता है।

दोस्तों DM जिले(district)के अंदर संपूर्ण कानून व्यवस्था की देखरेख जैसे काम को करता है।

DM कौन लोग होते है।

दोस्तों ऊपर हमने आपको DM full form को बताया है जिसे हिंदी में जिलाधिकारी कहा जाता है। यानी district magistrate जिसे संक्षिप्त में DM कहां जाता है। डीएम Indian Administrative Services का अधिकारी होता है। जिसका काम भारत के किसी एक जिले के अंतर्गत संपूर्ण व्यवस्था की देखरेख करना होता है। साथ ही उसे सुव्यवस्थित ढंग से चलाना होता है।

हमारे पूरे भारतवर्ष में लगभग 718 जिले हैं। और प्रत्येक जिला की देख रेख के लिए एक डीएम नियुक्त किया जाता है। एक IAS officer किसी डीएम का पद तब संभाल सकता है। जब उसने 6 वर्षों तक सेवा की हो जिसमें उसके 2 वर्ष प्रशिक्षण अवधि के भी शामिल है।

एक DM किसी एक जिले का प्रधान आधार नायक होता है। उस जिले के अंतर्गत काम करने वाले सभी सरकारी एजेंसीया की देखरेख, उनके कार्यों में तालमेल, कानून व्यवस्था को सुव्यवस्थित ढंग से चलाना यह सभी काम DM करता है।

दोस्तों अगर आप एक डीएम बनने की सपना रखते हैं। तो ऐसे मे आपको UPSC द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा को पास करना होता है। केवल पास करने से काम नहीं चलेगा बल्कि आपको पूरे इंडिया में 1000 लोगों के रैंक में शामिल होना पड़ेगा।

DM का मासिक वेतन

आप सभी के मन में यह सवाल जरूर आता होगा। DM का पद जब इतना बड़ा है तो इनकी सैलरी कितनी होगी। दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दें कि DM की सैलेरी ₹75000 से लेकर ₹150000 प्रति माह के बीच होती है। चूकी DM भी एक आईएएस अफसर ही होता है। इसलिए इनकी सैलरी इतनी ज्यादा होती है।

इस सैलरी के साथ साथ इनको कई सारे अन्य सुविधाएं भी प्राप्त होती है। जैसे रहने के लिए घर और एक निजी गाड़ी सरकार द्वारा दी जाती है।

DM बनने की आयु सीमा

दोस्तों हमने आपको ऊपर बताया कि DM बनने के लिए आपको सबसे पहले civil services यानी IAS का एग्जाम पास करना पड़ता है। दोस्तों DM बनने के लिए हर जाति के लिए अलग-अलग आयु को निर्धारित किया गया है। अगर आप general category से हो तब आपकी आयु सीमा 21 से 30 वर्ष के बीच होने चाहिए।

अगर आप OBC category से हो तब आपकी आयु सीमा 21 से 33 वर्ष के बीच होने चाहिए। और अगर आप SC या ST वर्ग से हो तब आपकी आयु सीमा 21 से 35 वर्ष तक होना चाहिए।

क्या 12वीं पास UPSC के लिए आवेदन कर सकते हैं।

दोस्तों आपको यूपीएससी परीक्षा मे भाग लेने के लिए graduation degree का होना अनिवार्य है। अगर आपको डीएम बनना है। तब सबसे पहले आपको अपना ग्रेजुएशन कंप्लीट करना चाहिए। उसके बाद ही आप IAS की परीक्षा देकर DM का पद हासिल कर सकते हैं।

डीएम का चुनाव कैसे किया जाता है

दोस्तों UPSC परीक्षा पास करने के बाद एक व्यक्ति को आईएएस अधिकारी का पद मिल जाता है। यही अधिकारी आगे चलकर promotion द्वारा DM बनते हैं। IAS यानी civil services की परीक्षा तीन चरणों में कराई जाती है। अगर आप इन तीनों चरणों को सफलतापूर्वक पास कर जाते हैं। तब आप एक IAS यानी DM बन सकते हैं।

UPSC परीक्षा के तीन चरण

1.प्रारंभिक परीक्षा(Primary exam for IAS)

2.मुख्य परीक्षा(Main exam for IAS)

3.इंटरव्यू(lnterview for IAS)

1.प्रारंभिक परीक्षा(Primary exam for IAS)

दोस्तों आपके प्रारंभिक परीक्षा के अंतर्गत दो एग्जाम कराया जाता है। पहले एग्जाम में आपसे 100 प्रश्न पूछे जाते हैं और दूसरे एग्जाम में आपसे 80 प्रश्न पूछे जाते हैं। यह दोनों परीक्षाएं 200-200 नंबर के होते हैं। अगर आप इस परीक्षा को पास कर जाते हैं तब आपको मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता है।

2.मुख्य परीक्षा(Main exam for IAS)

जो विद्यार्थी प्रारंभिक परीक्षा को पास कर लेता है सिर्फ वही मुख्य परीक्षा में भाग ले सकता है। इस मुख्य परीक्षा के अंतर्गत आपको 9 परीक्षाएं देनी होती है। जो लगभग 1750 अंक के होते हैं।

आप का चुनाव केवल 7 पेपर के आधार पर ही किया जाता है बाकी दो के पेपर्स मे केवल आपको पास होना होता है। अब अगर आप सफलतापूर्वक मुख्य परीक्षा पास कर जाते हैं। तब आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।

3.इंटरव्यू(lnterview for IAS)

IAS परीक्षा का यह तीसरा चरण काफी कठिन भरा होता है। क्योंकि इसमें आपको अपनी सूझबूझ के अनुसार सवालों के जवाब देने होते हैं। अगर आप इस इंटरव्यू को पास कर लेत हैं तब आप एक आईएएस अधिकारी बन जाते हैं।

लेकिन यह इतना आसान नहीं होता है। क्योंकि यहां पर अधिकतर ऐसे सवालों को पूछा जाता है। जो हमारी मानसिक क्षमता और सोचने समझने , निर्णय लेने की योग्यता को परखा जाता है। तीसरा चरण पास करने के बाद आप एक आईएएस ऑफिसर बन जाते हैं। आईएएस अधिकारी बन जाने के बाद अगर आपका प्रमोशन होता है तब आप एक DM पद के लिए योग्य चुन लिए जाते है। आप किस जिले के डीएम बनना चाहते हैं इसका चुनाव आप खुद भी कर सकते हैं।

DM के अधिकार

  1. जिले में उपस्थित जेल का रखरखाव करना
  2. जिले के विकास मे निर्माण कार्यों के लिए बिल का पास करना।
  3. किसी भी संदिग्ध घटना के investigation के लिए आदेश को पारित करना।
  4. पूरे जिला में कानून व्यवस्था को सुव्यवस्थित ढंग से बनाए रखना।
  5. पुलिस को सही सही दिशा निर्धारित करना।
  6. जिले में हुए किसी हिंसा से निपटने के लिए मैनेजमेंट का काम करना।
  7. बाल अपराध और अन्य संदिग्ध कामों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करना।

एक DM जिले के अंतर्गत काम करने वाले सभी अधिकारियों पर नजर रखता है।

DM के कुछ अन्य फुल फॉर्म(DM full form for social media)

दोस्तों आप सभी सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते होंगे। सोशल मीडिया पर जो हम comment करते हैं वह सार्वजनिक होते हैं। तो ऐसे में कई लोग आपको DM करने को बोलते है। या फिर आपने कहीं ना कहीं देखा होगा। कई लोग DM करने को बोलते है। आपकी जानकारी के लिए बता दें। इसका मतलब “DIRECT MESSAGE” होता है।

किसी भी व्यक्ति को एक private message, या personal message, direct message भी DM होता है। यह Direct message केवल वही लोग देख सकते हैं जिन्हें हम send करते हैं। आपको कोई कहता है DM me तो इसका मतलब हुआ। वह वयक्ति आपको private message करने को बोल रहा है।

हमने क्या सीखा

दोस्तों मैं आशा करता हूं हमारा यह लेख DM full form क्या है, DM कैसे बना जाता है(About Full form of Dm)आपको जरूर पसंद आया होगा। अगर आपके मन में इस आर्टिकल से संबंधित कोई डाउट है। तो आप बेफिक्र होकर हमें कमेंट या ईमेल कर सकते हैं।

यह article “DM full form क्या है, DM कैसे बना जाता है(About Full form of Dm) “पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया उम्मीद करता हुँ। कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा।