खाली पेट में तुलसी के पत्ते खाने के 15 फायदे(15 benefits of eating basil leaves in empty stomach)

You are currently viewing खाली पेट में तुलसी के पत्ते खाने के 15 फायदे(15 benefits of eating basil leaves in empty stomach)
खाली पेट में तुलसी के पत्ते खाने के 15 फायदे(15 benefits of eating basil leaves in empty stomach)

आयुर्वेद में तुलसी के पौधे को औषधीय गुणों का खजाना माना गया है इस पवित्र पौधे का धार्मिक महत्व भी है इसका उपयोग दशकों से मुख्य रूप से घरेलू उपचार के रूप में किया जाता रहा है तुलसी के पौधे को चाय, रस और सूखे पाउडर के रूप में विभिन्न तरीकों से इस्तेमाल किया जा सकता है.

तुलसी में कौन कौन से विटामिन और मिनरल्स पाए जाते है

तुलसी में कौन कौन से विटामिन और मिनरल्स पाए जाते है 
Tulsi or holy basil tea in white cup with fresh tulsi branch isolated on white background. Ayurvedic medicine in India.

तुलसी वाइटमिन सौर मिनरल्स का भंडार है इसमें मुख्य रूप से विटामिन सी, कैल्शियम, जिंक, आयरन और क्लोरोफिल पाया जाता है इसके अलावा इसमें सिट्रिक, टार्टरिक और मैलिक एसिड पाया जाता है तुलसी में ऐंटी इन्फ्लेमेट्री ऐंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। 

खाली पेट में तुलसी के पत्ते खाने के फायदे 

खाली पेट में तुलसी के पत्ते खाने से आपको आंतरिक स्वास्थ्य और बाहरी दोनों तरफ से फायदे हो सकते हैं वर्षों से तुलसी के पत्तों को उपचार के लिए सबसे बड़ी जड़ी बूटियों में से एक माना जाता है सुबह सुबह तुलसी के पत्ते खाने से इम्युनिटी सिस्टम मजबूत बनता है तुलसी के पत्तों में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो संक्रमण से लड़कर शरीर को मजबूत बनाता है तो चलिए आगे आपको बताते हैं कि सुबह खाली पेट तुलसी के पत्ते चबाने से आपको क्या क्या फायदे मिल सकते हैं। 

सुबह खाली पेट तुलसी के पत्तों को चबाना चाहिए तुलसी के पत्तों में ऐंटी ऑक्सिडेंट्स होते हैं, जो शरीर को फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से बचा कर रखता है साथ ही तुलसी के पत्ते सूजन को कम करने और तनाव दूर करने में भी मदद कर सकते हैं तुलसी के पत्तों में एंटी कार्सिनोजेनिक और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं ये घटक धमनियों में रक्त प्रवाह को सीमित करके ओर और ब्रेस्ट कैंसर के विकास को रोकने में मदद करते हैं.

 सुबह उठकर तुलसी के पत्ते चबाने से ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल रखने में मदद मिल सकती है डायबिटीज़ के मरीजों के लिए भी फायदेमंद है तुलसी के पत्ते खाने से शरीर में कार्बोहाइड्रेट और फैट का मेटाबॉलिज्म सही रहता है जिससे खून में मौजूद शुगर आपको एनर्जी देने का काम करता है तुलसी के पत्ते कैफीन वाइटमिन सी, सी, एन रोल और यूजेनॉल से भरपूर होते हैं, जो फेफड़ों में संक्रमण को ठीक करने में मदद कर सकते हैं इसके अलावा तुलसी के पत्तों को फेफड़ों में नुकसान के लिए एक आवश्यक दवा माना जाता है, जो मुख्य रूप से ट्यूबरकोलॉसिस और स्मोकिंग के कारण होता है.

जोड़ों में होने वाली सूजन और जलन की समस्या को दूर करने में तुलसी बेहतर विकल्प है इसमें सूजन कम करने वाले एंटीऑक्सीडेंट होते हैं तुलसी अर्थराइटिस यानी गाठिया की समस्या से पीड़ित मरीजों के लिए भी फायदेमंद है क्योंकि ये जोड़ों में दर्द और सूजन को दूर करने में मदद करती है तुलसी शरीर में मौजूद स्ट्रेस हार्मोन कॉर्टिसोल के लेवल को बनाए रखने में सहायक है शरीर में कॉर्टिसोल का लेवल कम होने से तनाव भी कम होता है इससे बेचैनी दूर करने और मूड फ्रेश करने में मदद मीलती है तो इसी पाचन तंत्र को मजबूत करने में सहायक है 

तुलसी डाइजेशन के लिए जरूरी गैस्ट्रिक जूस को जारी करने के लिए शरीर को उत्तेजित करती है जिससे पाचन आसानी से होता है इसके अलावा ये लिवर और ब्लैडर को डीटॉक्स करने में भी मदद करती है तुलसी में पाया जाने वाले यूजीनॉल और ऐंटी ऑक्सिडेंट्स बलगम और म्यूकस को बाहर निकालने में मदद करता है साथ ही साथ तुलसी की चाय में एंटीसेप्टिक और एंटी बैक्टीरियल प्रॉपर्टी भी होती है जिससे सर्दी खांसी के लक्षणों को दूर करने में मदद मिल सकती है तो देखिए ना जाने तुलसी से आपको कितने सारे हेल्थ बेनिफिटस मिल सकते हैं इस आर्टिकल में फ़िलहाल इतना ही उम्मीद करते हैं कि आपको हमारी ये आर्टिकल पसंद आई होगी .