Astrophysicist ने हमारी आकाशगंगा मे ढूंढे Strange Objects

You are currently viewing Astrophysicist ने हमारी आकाशगंगा मे ढूंढे Strange Objects

जर्नल नेचर में आज (15 जनवरी 2020) को प्रकाशित नए अध्ययन में ,astronomers ने बताया कि
हमारी milky way गैलेक्सी के center मे supermassive black hole है और इस black hole के आस पास का क्षेत्र बहुत ही अजीब जगह है astronomers ने sagittarius A* परिक्रमा कर रहे six नये objects का पता लगाया है जो galaxy के सभी object’s के विपरीत है ये नये objects इतने अजीब है astronomers इन्हे G-objects बुला रहे है
G1 और G2 ने लग-भग दो दशक पहले astronomers का ध्यान अपनी और खींचा था | ये objects जब blackhole के करीब पहुँच-ते थे | तो गैस के 100 astronomical unit कि तरह प्रतीत हो रहे थे |
लेकिन gas के बदलो कि तरह behavior नही कर रहे थे | ये objects gas कि तरह दीखते है लेकिन stars कि तरह behavior दिखाते है |

कभी-कभी black hole के सबसे करीब के सितारों को अंतरिक्ष मे रहने के लिए प्रतिस्पर्धा करनी पड़ती है – और कभी-कभी,नये अध्ययन से पता चलता है,कि यह प्रतियोगिता एक अजीब और हिंसक शादी बन चुकी है।

लॉस एंजिल्स के कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में astrophysicist के एक प्रोफेसर एंड्रिया गेज़ ने एक बयान में कहा । “यह possible है कि हम जिन सितारों को देख रहे हैं और समझ नहीं रहे हैं उनमें से कई विलय का अंतिम उत्पाद हो सकते हैं।”

पहले दो g objects 2005 और 2012 में खोजे गए थे। क्योंकि दोनों वस्तुओं ने Sgr A * के चारों ओर एक समान रूप से orbit का पीछा किया, कुछ astronomers ने उन्हें गैस के wisp’s के रूप में explain किया जो एक मरे हुए तारे से अलग हो गए होंगे |

पहला बड़ा hole 2014 में सामने आया, जब G2 नामक बूँद , black hole के event horizon  के कुछ सौ astronomical units के भीतर आ गई । astronomers ने भविष्यवाणी की है कि, अगर G2 गैस का एक बादल था, तो यह तीव्र गुरुत्वाकर्षण द्वारा टूट जाएगा। लेकिन यह बच गया |

Gravitation force से बचने के बाद G2 फिर से अधिक कॉम्पैक्ट हो गया। इन सभी ने सुझाव दिया कि कोई शक्तिशाली गुरुत्वाकर्षण बल इसको एक साथ बांध कर पकड़े हुए है – जिसका अर्थ है कि यह किसी प्रकार का एक तारा है,
इस परिकल्पना का परीक्षण करने के लिए, researchers ने हवाई में WM केके वेधशाला से आकाशगंगा के केंद्र को छानने के लिए कई साल बिताए, और अधिक संभावित G-प्रकार की वस्तुओं की खोज की। 
हालांकि यह सही प्रतीत होता है, कि शोधकर्ता तब तक निश्चित नहीं हो सकते जब तक कि वे अधिक बाइनरी सितारों का पता नहीं लगाते और उनका अध्ययन नहीं करते जो एक ब्लैक होल द्वारा एक साथ फेंके गए हैं।