पढ़ाई के रोचक तथ्य की जानकारी- study fact in Hindi

You are currently viewing पढ़ाई के रोचक तथ्य की जानकारी- study fact in Hindi

हम सभी के मन में यह सवाल जरूर आता है काश हमारे पास ऐसा कोई तरीका होता जिसकी मदद से हम कोई भी किताब जल्दी जल्दी याद कर लेते हैं। लेकिन असलियत में जब भी हम कोई नई किताब पढ़ते हैं तब उसे पढ़ने में हमारा या तो दिमाग नहीं लगता या फिर थोड़े समय बाद हम सब-कुछ भूल जाते हैं। लेकिन psychology के पास ऐसे कई टिप्स और ट्रिक्स है। जिससे हम अपने समझने के ढंग को improve कर सकते हैं। दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम पढ़ाई के रोचक तथ्य के बारे में जानेंगे।

Read this-Mobile से कमायें 15000 रुपए हर महीने,ऐसे घर बैठे कमाए ढेर सारा पैसा

पढ़ाई के रोचक तथ्य- fact about study in Hindi

1)30-40 मिनट तक लगातार पढ़ना और फिर 10 मिनट का ब्रेक लेना यह सबसे कारगर तरीका है नई चीजों को याद रखने मे।

2) किसी topic को ऐसे पढ़े जैसे आप किसी को समझा रहे हो। ऐसे में हमारा दिमाग जल्दी-जल्दी चीजों को सीखता है।

3) अगर आप पढ़ाई करते समय chewgum चबा रहे हैं। और समान flavor का chewgum परीक्षा के दौरान चबाते है। तो आपके सभी चीजें याद रखने की संभावनाएं बढ़ जाती है।

4) एक मूर्खतापूर्ण सवाल का जवाब तुरंत ताने के साथ देने वाले का मस्तिष्क स्वस्थ माना जाता है।

5) विद्यार्थियों को परीक्षा से पहले केला खाना चाहिए इससे उनमें एनर्जी बनी रहती है और केले में मौजूद हाई पोटैशियम उनके दिमाग को तेज बनाता है।

6) दिमाग तेज करने के लिए दही खाये क्योंकि दही में अमीनो अम्ल होता है जिससे टेंशन कम होता है और दिमाग की क्षमता बढ़ती है।

7) एक शोध की मानें तो 73% कॉलेज के छात्र नींद की समस्या से जूझते हैं। नींद को भगाने के लिए आप कॉफी का इस्तेमाल कर सकते हैं। क्योंकि कॉफी में कैफीन की मात्रा होती है।

8) परीक्षा से पहले आप उन चीजों को किसी नोटबुक में लिख डालिए। जिन चीजों कि आपको चिंता सता रही है। ऐसा करने से कुछ समय के लिए हमारा दिमाग focused हो जाता है। और हमारे अंदर गजब की सकारात्मक ऊर्जा पैदा होती है।

9) Notes बनाने के 1 दिन के अंदर पढ़ लेने से आप उन्हें 60% से ज्यादा याद कर लेते हैं।

10) पढ़ाई करते समय चॉकलेट खाना आपको और ज्यादा स्मार्ट बना सकता है ऐसा करते समय हम नई चीजों को बहुत जल्दी सीख लेते है।

11) अगर आप जल्दी-जल्दी अध्ययन करना चाहते हैं तब किसी भी टॉपिक का पहला और अंतिम पैराग्राफ पढ़िए इसके बाद मिडिल का पैराग्राफ पढ़िए। ऐसा करने से आपको पूरे टॉपिक के बारे में जल्दी आईडिया लग जाएगा।

स्मरण-शक्ति ऐसे बढ़ाइए- amazing fact about study in Hindi

फलता के मार्ग में एक बाधा स्मरण-शक्ति की कमी भी है। जिस सव्यक्ति की स्मरण शक्ति बहुत कमजोर है, वह सफलता बहुत विलंब से प्राप्त करता है। वे व्यक्ति जीवन में बहुत शीघ्र सफल होते हैं, जिनकी.स्मरण शक्ति प्रबल होती और जो देखे, पढ़े या सुने को कभी नहीं भूलते।

आपकी स्मरण शक्ति बड़ी क्षीण है और आप बात को शीघ्र ही भूल जाते हैं तो इसका अर्थ न लगा लें कि आप असफल व्यक्ति हैं। आप भी सफल हो सकते हैं, सफल भी हैं। फिर भी स्मरण शक्ति बढ़ने पर आप और अधिक सफलता प्राप्त कर सकते हैं और ऊंचाइयों को स्पर्श कर सकते हैं। स्मरण शक्ति में वृद्धि करना भी असंभव बात नहीं है।

बड़े बड़े दार्शनिकों के ऐसे-ऐसे वृत्तांत पढ़ने-सुनने को मिलते हैं कि हंसी आती है उनके भुलक्कड़पन पर। एक महान दार्शनिक बाजार में खरीदी हुई वस्तु उसी दुकान पर भूल आते थे जिससे खरीदते थे। घर आने पर अपनी पत्नी के सामने लज्जित होते थे।

एक महान गणितज्ञ हिसाब-किताब में ही इतना अक्षम थे कि उन्हें अपना बैंक बैलेंस ही याद नहीं रहता था। कई शिक्षक, जो छात्रों को गंभीर विषय पढ़ाते हैं और उन्हें स्मरण रखने की सीख देते हैं, स्वयं यह भूल जाते हैं कि पत्नी ने उन्हें बाजार से क्या लेने भेजा है।

आप अपनी स्मृति पर विश्वास कीजिए

आप अपनी स्मृति पर विश्वास करें। कभी भी यह न सोचें कि आपकी स्मरण-शक्ति क्षीण है। आप जो कुछ याद रखना चाहते हैं, याद नहीं रहता। बल्कि यह सोचें की अब आप जो भी याद रखना चाहेंगे, याद रहेगा। आपकी स्मरण-शक्ति इतनी क्षीण नहीं जितनी आप समझ बैठे थे। आप निरंतर तीव्र स्मरण शक्ति को स्थायी बनाने जा रहे हैं।

स्मृति को बनावटी सहायता ना दें

अपनी स्मृति को बनावटी सहायता देने पर सदैव दूर रहे। जैसा किसी काम का नाम याद रखने के लिए आपके फॉर “कानपुर “कहते हैं या संख्या के साथ किसी रंग का अथवा वस्तु को जोड़ते हैं तो गलती करते हैं इससे आपके मस्तिष्क पर अनावश्यक बोझ पड़ता है जो भी चीज याद करनी है उसे उसी रूप में केवल उसी को ज्यों का त्यों याद कर ले।

रटना अनुचित है

मनोविज्ञान से यह सिद्ध हो चुका है कि कम समय में अधिक परिश्रम की अपेक्षा अधिक समय में कम परिश्रम से याद करने की विधि सरल प्रभावशाली होती है। मतलब यदि कोई विषय याद करना है तो एक रात्रि में उसे 10 बार ना पढ़कर 5 दिनों तक दो-दो बार पढ़ने पर शीघ्र याद हो जाता है। दोस्तों अगर आपके पास समय कम है तब आप रट सकते हैं।

मस्तिष्क पर अधिक जोड़ना न लगाएं

सीमा से अधिक किया गया प्रयास तनाव उत्पन्न करता है और तनाव मस्तिष्क को कमजोर कर देता है। जिससे हमारे याद रखने की प्रक्रिया रुक जाती है। ऐसी स्थिति में हमें जो याद रहता है हम वही भूलने लगते हैं।

सोने से पहले पढ़िए

जिन विषयों मे आप निपुण होना चाहते हो जिन्हें आप जल्दी सीखना चाहते हो या कोई उपयोगी पुस्तक का अध्ययन कर रहे हो तो रात्रि को सोने से ठीक पहले अध्ययन कीजिए क्योंकि सोने से पहले पढ़ी गई चीज बड़ी आसानी से याद हो जाती है।

पढ़ना बंद करते ही सो जाइए जब तक नींद ना आए पढ़ते रहिए ठीक समय पर सोने की आदत रखें और उसी वक्त का अध्ययन करें। एक बात पर विशेष ध्यान दीजिए पढ़ने के तुरंत बाद सो ही जाना चाहिए।

यह article “पढ़ाई के रोचक तथ्य की जानकारी- study fact in Hindi” पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया उम्मीद करता हुँ। कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा