दुनिया भर के पेड़ पौधों का वैज्ञानिक महत्व-Scientific importance of tree in hindi

दुनिया भर के पेड़ पौधों का वैज्ञानिक महत्व-Scientific importance of tree in hindi

पौधों के औषधिय एवं लाभकारी गुणों के उपयोग का इतिहास उतना ही पुराना है जितना स्वयं मनुष्य की उत्पत्ति का इतिहास। पृथ्वी पर शायद ही ऐसा कोई धर्म हो जिसमें पेड़ पौधों(About tree in Hindi) का वर्णन ना आया।

पृथ्वी पर हजारों तथा लाखों वर्षों से लगातार प्राकृतिक, राजनीतिक तथा सामाजिक परिवर्तन होते रहने के बावजूद पेड़ पौधों के इन लाभकारी गुणों के ज्ञान का जिंदा रहना अपने आप में एक चमत्कार से कम नहीं है जबकि मानव सभ्यता ने भी इस दौरान कई बार गिरी और फिर विकसित हुई। दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम दुनिया भर के पेड़ पौधे और उनके लाभकारी गुणों( Benefit of tree in Hindi)का अध्ययन करेंगे।

आम का पौधा- Mango tree

आम के फल से लगभग सभी लोग परिचित हैं इसकी लकड़ी का उपयोग हवन पूजा आदि में तथा अन्य मांगलिक अवसरों पर किया जाता है इसके पत्तों को शुभ अवसर पर दरवाजों पर लगाया जाता है। इसके अंदर विटामिन C, B, Aऔर K भरपूर मात्रा में मिलता है।

आंवला का पौधा- Gooseberry tree

आंवले के फलों में प्रचुर मात्रा में विटामिन सी तथा फाइबर मौजूद होते हैं हरड़ और बहेड़ा के साथ(tree in hindi)यह ट्रिपला का एक महत्वपूर्ण अवयव है। जिसका उपयोग हम पेट संबंधी रोगों में करते हैं।

अनार का पौधा- Anar tree

तंत्र मंत्र में इसकी लकड़ी से लिखा जाता है। अनार के बीजों में पर्याप्त मात्रा में tenin तथा polyphenols होते हैं जो रोग रोधक क्षमता के जबरदस्त गुण रखते हैं।

अरंडी का पौधा- Arandi tree

इसके पौधों को होली में होलिका के स्थान पर दहन किया जाता है इसके बीजों में तेल पाया जाता है जो विचेरक गुण रखता है इसकी बीज भी जहरीले होते हैं।

अर्जुन का पौधा-Arjun tree in hindi

शरद पूर्णिमा के दिन इस वृक्ष की लोग पूजा भी करते हैं अर्जुन पेड़ में कोलेस्ट्रॉल कम करने के औषधीय गुण पाए जाते हैं।

अशोक का पौधा- Ashok tree in Hindi

ऐसा माना जाता है कि रावण की लंका में सीता जी को इसी वृक्ष के नीचे रखा गया था शायद इसीलिए दुख को भूलकर आशा को पूर्ण करने के लिए अशोक वृक्ष की पूजा भी की जाती है। हमारे आयुर्वेद के अनुसार इसके पास औषधि कें प्रमुख अवयव मौजूद रहते हैं।

बेल पत्ता का पौधा- About tree in Hindi

इसके पत्तों को शिवजी की पूजा में अंकित किया जाता है इसके तीन पत्तों का विशेष महत्व हमारे त्रिमूर्ति देवताओं से हैं। बेल का फल खाने से पेट में उत्पन्न विकारों को सही करने की गजब क्षमता होती है।

बरगद का वृक्ष- About Banyan tree in Hindi

महिलाएं इसकी पूजा अखंड सौभाग्यशाली रहने का आशीर्वाद पाने के लिए करती है भगवान शिव की जटाओं से संबंधित मानकर बरगद को श्रद्धा की दृष्टि से देखा जाता है। लोगों का यह भी मानना(tree in hindi) है कि गौतम बुध को इसी पेड़ के नीचे ज्ञान प्राप्त हुआ था।

बांस का वृक्ष- About bamboo tree in Hindi

बांस कि पौधों को भगवान श्री कृष्ण से जोड़ा जाता है। क्योंकि उनकी बांसुरी बांस की ही बनी थी। विवाहो तथा भागवत कथा में इसका उपयोग शुभ माना जाता है। 19वीं शताब्दी में जब एडिसन बल्ब का आविष्कार कर रहे थे। तब उन्होंने फिलामेंट के लिए बांस की रेसे का भी उपयोग किया था।

भृंगराज का पौधा- About Bhringraj tree in Hindi

आपने इसका नाम तो जरूर सुना होगा। इस पौधों के औषधीय गुण गजब है इसका तेल लगाने से बाल काले और घने बने रहते हैं। साथ ही स्किन संबंधित पदार्थों में इसका उपयोग भी किया जाता है।

चंदन का पौधा-About Chandan tree in Hindi

एक कहानी के अनुसार मां पार्वती ने गणेश जी को चंदन के पेड़ से उत्पन्न किया जिसे वह अपने शरीर पर प्रयोग करती थी बाद में गणेश जी में माँ पार्वती ने प्राण डालें। पूजा में इस के टीके का विशेष महत्व है। सर दर्द में इसका लेप लगाने से आराम मिलता है। स्किन संबंधित रोगों में भी इसका उपयोग किया जाता है।

धतूरा का पौधा-About Datura tree

धतूरा के पौधे के फल भगवान शिव को अर्पित किया जाते हैं इसके फलों में जहरीले alkaloids पाए जाते हैं। धतूरे के पत्तों का उपयोग डायबिटीज जैसी बीमारियों में भी किया जाता है। इसके फूलों का उपयोग सर दर्द निवारण के रूप में किया जाता है। और भी इसके बहुत सारे औषधिय गुण हैं।

दूब- About Grasses in Hindi

इसका उपयोग सभी धार्मिक अनुष्ठानों में किया जाता है। प्राचीन काल में इसका उपयोग घाव को भरने में किया जाता था। आज भी यह सब औषधीय गुण इसमें मौजूद है।

गूलर का पौधा-About Ficus tree in hindi

गूलर का फल लोगों द्वारा खाया भी जाता है साथ ही इसके दूध में कई गुणकारी alkaloids पाए जाते हैं।

हल्दी का पौधा- About turmeric tree in Hindi

हाली से आप सभी परिचित होंगे। घरों में उपयोग होने वाली है सबसे अधिक लाभकारी पौधों (tree in hindi)में से एक है। इसका सेवन आंतरिक चोट में लाभकारी माना जाता है। दर्द मे इसका लेप भी लगाया जाता है। चेहरे पर रौनक लाने के लिए लोग इसके फेस मास्क के रूप मे भी उपयोग करते हैं।

कदम्ब का पौधा- About Kadam tree in Hindi

ऐसा कहा जाता है कि कृष्ण भगवान को यह वृक्ष बहुत पसंद था इसलिए इसकी धार्मिक महत्व बहुत है पुरानी लोक कथाओं के अनुसार बचपन में श्री कृष्ण इसी पेड़ के नीचे खेला करते थे।

अगर आपने कभी भी कदम्ब का फल खाया होगा। तो पता होगा यह कितना स्वादिष्ट होता है। इसको सेवन करने से हमारे शरीर को कई रासायनिक तत्व मिल जाते हैं।

केला का पौधा- About banana tree

ऐसा माना जाता है कि केला भगवान विष्णु और लक्ष्मी को बहुत प्रिया है यदि सत्यनारायण की कथा में केले का प्रयोग ना किया जाए तो प्रसाद अधूरा माना जाता है।

मनोवैज्ञानिको की माने तो केला एकमात्र ऐसा फल है जो आपका mood कुछ ही पल में बदल सकता है। किले के अंदर -Calories: 89, Water: 75%, Protein: 1.1 grams, Carbs: 22.8 grams, Sugar: 12.2 grams, Fiber: 2.6 grams, Fat: 0.3 grams की मात्रा पाई जाती है।

कमल का पौधा-Lotus

गुलाब के बाद कमल एकमात्र ऐसा फूल है जो लोगों को बहुत ज्यादा पसंद आता है। इसे लक्ष्मी पूजन में प्रयोग किया जाता है। इसकी जड़ों में प्रचुर मात्रा में कैल्शियम तथा खनिज पाया जाता है। साथ ही इसका उपयोग cough और cold जैसी बीमारियों में किया जाता है।

महुआ का पौधा-About Mahua tree in Hindi

महुआ के औषधीय गुण बड़े ही कमाल के हैं इसका उपयोग डायबिटीज जैसी बीमारियों में भी किया जाता है इसके फूलों का उपयोग आंखों में होने वाले इन्फेक्शन से उपचार मे भी किया जाता है।(tree in hindi)साथ ही इसके और भी कई औषधीय गुण मौजूद हैं।

नारियल का पौधा- About coconut tree in Hindi

कुछ लोग इसे कल्पवृक्ष के नाम से भी जानते हैं हालांकि कई अन्य पौधों को भी अलग-अलग साहित्य में कल्पवृक्ष नाम दिया गया है वास्तव में कल्पवृक्ष कौन सा पौधा है यह विवाद का विषय बना हुआ है।

इसके औषधीय गुणों में मौजूद है- नारियल का पानी जो पीने में मजेदार और कई लाभकारी गुणों के साथ हमारे शरीर के लिए सही होता है। नारियल का तेल खाने, स्किन और बालों के लिए महत्वपूर्ण होता है।

नीम का पौधा- About neem tree in Hindi

नीम को दुर्गा काली का प्रतीक माना जाता है देवी आराधना में नीम की पत्तियों को अर्पित कर रोग मुक्ति का कामना की जाती है।

इसकी पत्तियों में गजब के कीटनाशक गुण पाए जाते हैं। इसके पत्तियों(tree in hindi) को पीसकर पीने से ब्लड प्यूरीफायर भी हो जाता है। साथ ही इसका उपयोग दांतों के लिए …बालों के लिए भी है फायदेमंद …फोड़े और दूसरे जख्मों पर लगाने के लिए भी होता है।

तुलसी का पौधा-About tulsi in hindi

लगभग प्रत्येक हिंदू घर में इसका पौधा देखा जा सकता है तुलसी चार से पांच प्रकार की होती हैं जिसे उसमें पाए जाने वाले रसायनों के आधार पर बांटा गया है।

तुलसी पौधा औषधियों का भंडार है इसके पत्तों में भूख बढ़ाने से लेकर, रक्त को शुद्ध करने के गुण पाए जाते हैं साथ ही बुखार से लेकर, पेट दर्द, मलेरिया संक्रमण, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना गुण भी पाए जाते हैं।

यह article “दुनिया भर के पेड़ पौधों का वैज्ञानिक महत्व-Scientific importance of tree in hindi” पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया उम्मीद करता हुँ। कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा