The Philadelphia Experiment : एक रहस्यमई प्रयोग

The Philadelphia Experiment : एक रहस्यमई प्रयोग

आज हम दुनिया के सबसे रहस्यमय, experiment, the philadelphia experiment का सच जानने वाले है

Einstein के दौर मे जब special और general relativity theory हर किसी के जुबान पर छाई थी. तभी कुछ ऐसे चौकाने वाले सच दुनिया के सामने आये. जिन्हे देख कर हर कोई सोच मे पड़ गया.

उन दिनों शायद ही किसी ने सोचा होगा कि time travel जैसी भी कोई चीज हो सकती है.

देखा जाये तो उस वक़्त इन घटनाओ पर भरोसा करना बहुत ही मुश्किल था. क्युकी बहुत कम लोगो को विज्ञान कि यह नई भाषा समझ मे आती थी. जिसे einstein ने हमें सिखाई थी. लोग धीरे -धीरे einstein के equations को समझ रहे थे.


जिसकी वजह से भविष्य मे space research और हमारी दुनिया नई मोड़ लेने वाली थी. पर क्या इस नये विज्ञान के अनुसार time travel सच मे मुमकिन था.

चलिए इतिहास मे पीछे चलते है. यह समय था 1930 का जब एक military contracter AL bielek नाम के एक शख्स ने एक रहस्यमई खुलासा किया. कि US navy एक ऐसे प्रयोग पर काम कर रही है जिससे warship यानी लड़ाकू जहाज को कुछ समय के लिए invisible किया जा सकता है.

Bielek के मुताबिक इस experiment को डायरेक्ट करने वाला और कोई नही बल्कि einstein खुद ही थे.

उस समय जर्मनी के warships मे लगी radar से बचने के लिए US के scientists कुछ experiment कर रहे थे. जिसमे वो warship के चारो तरफ magnetic coils लगाकर radar को चकमा दिया जा सके.

इस experiment को सफलता तब मिली जब मशहूर scientist nicola tesla ने एक छोटे नाव पर इस technology को आजमा कर देखा.

जब इस experiment को एक बड़े warship पर आजमाने का time आया तो nicola tesla किसी विचित्र कारणवश पीछे हट गए. और उन्होंने इस कार्य को किसी और साइंटिस्ट को सौंप दिया और इसके साथ एक warning भी दिया. ” अगर इस experiment को जारी रखा जाये तो बहुत ही भयंकर परिणाम हो सकते है.

the true story of philadelphia experiment

” नये वैज्ञानिक USS eldridge नाम का एक ऐसा लड़ाकू ship बनाने मे कामयाब रहे.

12 अगस्त 1953 मे आया वो रहस्यमई दिन जब इस experiment का दूसरा test मे किया गया. अचानक से हरे रंग कि ढूंढ़ आयी. और उस warship को कुछ ही पल मे ढक लिया. और फिर ship कुछ पल के लिए गायब हो गया.

Bielek के मुताबिक uss eldridge का अचानक से गायब होना और फिर वापस आना. Nicola tesla के zero time reference generator के कारण ही संभव हो पाया था.

विज्ञान कि भाषा मे कहा जाये तो यह technic पृथ्वी के megnetic field को lock कर देती है. और फिर इस तरह से operate करती है कि किसी भी tracking devices पर उस चीज के बजाये हमारे galaxy के center से आने वाले megnetic fields को दर्शाती है.

सरल भाषा मे समझा जाये तो सभी tracking devices के लिए uss eldridge invisible हो चूका था.

पर surprised करने वाली बात तो तब सामने आयी. जब AL bielek ने यह कहा कि वो जहाज कुछ घंटे के लिए गायब जरूर हुआ था. पर उसी दौरान वह जहाज एक समय यात्रा करके वापस आया

जहाज के वापस आते ही जहाज मे बैठे कुछ सैनिक पूरी तरह से झुलस गए थे. कुछ कि मानसिक इस्थिति बिल्कुल सही नही थी. कुछ तो उस जहाज के matter के साथ इस तरह से combined हो चुके थे जैसे कि उनका molicular structure ही ship के molecular structure के साथ combined हो चूका हो.

Al bilek का कहना था कि वो और उनका भाई ship के crue मेंबर थे us time warp के दौरान वह 1983 के किसी ख़ुफ़िया जगह पर पहुंच चुके थे.

Einstein के theory के मुताबिक यह माना यह माना गया है कि universe मे चार dimension है लेकिन इस experiment ki वजह से dimension मे curvature हो गए थे. जिसके चलते एक wormhole creat हो गया

जिससे होकर Al bilek और उनके भाई किसी और वक़्त मे चले गए थे.

सुनने मे यह किसी science fiction कि movie कि story कि तरह लगती है. पर यह खुलासे खुद Al bilek ने ही किये अब सवाल ये उठता है कि क्या इस experiment मे सच मे जहाज ने time travel किया था

तो friends philadelphia experiment के बारे मे, ये article पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया. उम्मीद करता हुँ. कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा.