Soul का मतलब क्या होता है, आत्मा के ऊपर एक वैज्ञानिक प्रयोग(Soul meaning in Hindi)

You are currently viewing Soul  का मतलब क्या होता है, आत्मा के ऊपर एक वैज्ञानिक प्रयोग(Soul meaning in Hindi)

Soul meaning in Hindi-आत्मा

आत्मा का मतलब

व्यापक अर्थों में,”आत्मा”किसी व्यक्ति की भावनात्मक दुनिया को संदर्भित करता है। आत्मा वह है जो आपके मन को आपके शरीर से जोड़ती है। आत्मा वह शक्ति है जो आपको वह बनाती है जो आप हैं। यह भी एक मायावी चीज है जिसे देखा या छुआ नहीं जा सकता है, लेकिन हम जो कुछ भी करते हैं उसमें इसकी उपस्थिति महसूस होती है। आत्माएं शाश्वत चीजें हैं जो एक साथ होने के कई स्तरों पर मौजूद हैं- भौतिक, सूक्ष्म, आध्यात्मिक- और वे सभी परस्पर जुड़ी हुई हैं।

Read this-Meditation क्या है, Meditation कैसे करें, प्रकार, लाफ (About Meditation in hindi)

आत्मा क्या है

आत्मा एक जटिल और अटूट विषय है, लेकिन इसे चार केंद्रीय विषयों की खोज के माध्यम से वर्णित किया जा सकता है: (१) परिभाषा की खोज, (२) आत्मा के पारलौकिक और रहस्यमय पहलू, (३) समाज से इसका संबंध, और (4) इसके नैतिक आयाम। परिभाषा की खोज: हम”आत्मा”को कैसे परिभाषित करते हैं? अलग-अलग संदर्भों में इस शब्द की अलग-अलग परिभाषाएँ हैं, जो इसे परिभाषित करना लगभग असंभव बना देता है। यह पता लगाने का एक तरीका है कि लोग आत्मा के बारे में क्या सोचते हैं, यह उन मिथकों की खोज है जो पीढ़ियों से चले आ रहे हैं। प्राचीन ग्रीक पौराणिक कथाओं में, आत्माओं की उत्पत्ति के बारे में कई कहानियां हैं। जब डेमी-गॉड प्रोमेथियस ने मानवता को देने के लिए ज़ीउस से आग चुराई, तो उन्हें नश्वर लोगों के बीच अनंत काल की पीड़ा से दंडित किया गया। एक कहानी मनुष्य के बारे में बोलती है

बुरी आत्माये क्या है।

दुष्ट आत्मा मनुष्य की सबसे जटिल और पेचीदा विशेषता है। हमारे पास कई प्रकार की आत्माएं हो सकती हैं, और वे हमारे चरित्र को परिभाषित करती हैं। आत्मा एक आध्यात्मिक इकाई है जो हर व्यक्ति में है। यह परिभाषित करता है कि हम कौन हैं और हम इस दुनिया में क्या करते हैं। बुरी आत्माओं से निपटना मुश्किल है क्योंकि उन्हें किसी भी चीज से वश में नहीं किया जा सकता है – खुद भगवान भी उन्हें नियंत्रित नहीं कर सकते। लेकिन वह भगवान से डरती जरूर है।

आत्मा के ऊपर एक वैज्ञानिक प्रयोग

दोस्ती यह प्रयोग 1907 मे किया गया था जिसमें एक वैज्ञानिक ने आत्माओं के वजन को नापने की कोशिश की। उनका यह प्रयोग journal of the American Society for psychic research में छपे एक शोध में से दुनिया के सामने आया। इस शोध में इंसान के मरने के बाद उसकी आत्मा से जुड़ी प्रयोगों पर चर्चा की गई थी। जिसमें बताया गया था कि वैज्ञानिकों को लगता है कि आत्मा का भी एक निश्चित वजन होता है। इसमें एक डॉक्टर dunkal जो एक फिजीशियन थे। उनके प्रयोग के बारे में चर्चा थी।

डॉ डंकन जहां काम करते थे। वह आए दिन वहां लोगों को मरते देखते थे। अस्पताल में वजन मापने की एक मशीन थी जिसे देखकर उनके दिमाग में इंसान की आत्मा का वजन नापने का ख्याल आया। NewYork times में छपे एक लेख के मुताबिक इस घटना के 6 साल बाद उनका यह विषय लोगों के सामने आया। उन्होंने अस्पताल में रखे तराजू को इस तरह से फिट किया कि वजन को 28 ग्राम से कम बदलाव को भी सटीकता से मापा जा सके। जो लोग गंभीर रूप से बीमार होते थे या जिनके बचने की कोई उम्मीद नहीं होती थी। उन्हें इस खास तराजू पर लेटा दिया जाता था। और उनके मरने की प्रक्रिया को करीब से देखा जाता था। शरीर के वजन में हो रहे हैं किसी बदलाव को वह अपनी नोटबुक में लिखते रहते थे। साथ ही वह खून,पसीने, पानी,मल मूत्र इन सब का हिसाब रखते हैं।

डॉक्टर डंकन ने दावा किया कि जब इंसान अपनी आखिरी सांस लेता है तब उसके शरीर से आधा ओंस वजन कम हो जाता है। और जिस क्षण वह मर जाता है उसी छण तराजू का स्केल बहुत ही तेजी से नीचे आता है। ऐसा लगता है मानो शरीर से अचानक कुछ निकल कर बाहर चला गया। यह प्रयोग 6 सालों तक चला था। हमारे वैज्ञानिक समुदाय ने इस शोध को मानने से इनकार कर दिया। क्योंकि यह पूर्ण रूप से सटीक नहीं था। इसमें काफी कमियां थी।

हमने क्या सीखा

दोस्तों इस आर्टिकल मे हमने जाना soul in Hindi क्या होता है। आज हमने soul meaning in Hindi जुड़े हमें जितनी भी जानकारी प्राप्त हुई। उसे हमने आपके सामने प्रस्तुत किया है। अगर आपके मन में इस आर्टिकल से संबंधित कोई डाउट है। तो आप बेफिक्र होकर हमें कमेंट या ईमेल कर सकते हैं।

यह article “आत्मा का मतलब क्या होता है, आत्मा क्या होती है(Soul meaning in Hindi)”पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया उम्मीद करता हुँ। कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा।