Mind या मन का मतलब क्या है। यह कैसे काम करता है(Mind meaning in hindi)

Mind या मन का मतलब क्या है। यह कैसे काम करता है(Mind meaning in hindi)

हेलो दोस्तों आज इस आर्टिकल में हम जानने वाले हैं। mind meaning in Hindi क्या होता है। mind किसे कहते हैं। mind का मतलब क्या होता है। यह कैसे काम करता है।

Mind meaning in hindi-मन, विचार, बुद्धि, चिंतन शक्ति, स्मरण शक्ति,आत्मा, बुद्धि,दिमाग,मस्तिष्क, निर्णय लेने की शक्ति।

Mind या मन का मतलब

दोस्तों मन हमारे मस्तिष्क का वह क्षमता है जिसकी सहायता से हम चिंतन, स्मरण, बुद्धि भाव, एकाग्रता कर पाते हैं। अगर आम भाषा में इसे समझे तो मन हमारे दिमाग का वह हिस्सा है। जो किसी भी चीज के प्रति हमें सोचने और समझने का शक्ति प्रदान करता है।

मन जीतो दुनिया जीत लो

आपने यह कहावत जरूर सुनी होगी। मन को काबू में करो और दुनिया जीत लो। चलिए इसे विज्ञान की भाषा मे समझते हैं। डाक्टर सैमुअल का नाम चिकित्सा विज्ञान में अनजाना नहीं है। उन्होंने अपने एक विद्वतापूर्ण निबन्ध में यह प्रमाणित किया है कि जैसा मन रहेगा, वैसा ही शरीर। शरीर मन पर आश्रित है। मन में रोग की भावना है, तो रोग शरीर में अवश्य रहेगा।

मन स्वस्थ है, तो शरीर भी स्वस्थ रहेगा। इसी बात पर दार्शनिक अरस्तु का कथन है कि स्वस्थ मन, स्वस्थ शरीर में ही रह सकता है। शरीर और मन के स्वस्थ संतुलन पर ही मनुष्य सुख और शान्ति का अनुभव कर सकता है। जब यह सन्तुलन बिगड़ जाता है, तो मनुष्य को नाना प्रकार की
व्याधियां पकड़ लिया करती हैं।

जिस व्यक्ति का शरीर स्वस्थ न हो, वह भला सशक्त चिन्तन या कार्य कैसे कर सकता है। वह तो बीमारी के कारण खाट पर पड़ा कराहता ही रहेगा। रोग से उत्पन्न पीड़ा के कारण बेचारा स्वयं वह घटता रहता है। जो अस्वस्थ होगा, उसके विचार भी अस्वस्थ होते हैं। रोगी व्यक्ति मौत को सन्निकट जानकर निराशावादी हो जाता है। उसको अपना सारा भविष्य अन्धकारमय नजर आता है, जिसके मन में बराबर रोग-बीमारियों के विचार रहेंगे, वह भी अपना शरीर स्वस्थ नहीं रख सकता है। मन के विचार शरीर पर अपना जबरदस्त प्रभाव डालते हैं।

स्वस्थ मन और स्वस्थ शरीर जीवन की पहली आवश्यकता है। इस बल पर ही मनुष्य प्रसन्न रह सकता है और कुछ कार्य कर सकता है।

नींद की अवस्था में मन का प्रभाव

निद्रा या सुप्तावस्था को साधारण भाषा में नींद कहा जाता है। नींद प्रकृति का एक सिद्धान्त है। प्रत्येक जीव के लिए नींद अत्यावश्यक है। यह सन्तुलन बनाए रखती है। इसी निद्रा के लिए प्रकृति ने रात का समय बनाया है। नींद प्रत्येक जीव को तरोताजा रखती है। उसे कार्य शक्ति प्रदान करती है।

बिना नींद के हम कुछ समय तक रह सकते हैं, पर हमेशा बिना नींद के नहीं रहा जा सकता है। बिना नींद के हमारा शरीर सन्तुलन बनाए ही नहीं रख सकता है। इसका अभाव मनुष्य का शरीर एकदम तोड़कर रख देता है। नींद का प्रत्येक जीव के लिए महत्व है।

नींद के सम्बन्ध में अब तक काफी वैज्ञानिक खोजें हो चुकी हैं। यह धारणा कि हम नींद में अचेत रहते हैं। शरीर और मन निष्क्रिय रहता है, गलत है। वास्तव में हमारा शरीर नींद में उसी प्रकार बढ़ता रहता है, जिस प्रकार जाग्रतावस्था में। हमारे बाल नाखून भी नींद में बढ़ते-बदलते रहते हैं।

चेहरे की झुर्रियां, आंखों के नीचे के काले गड्डे-सब नींद में बनते रहते हैं। कई लोगों को नींद में बोलने की आदत भी रहती है। वह लोग नींद की अचेतनावस्था में ही उठकर घर से बाहर निकल पड़ते हैं और फिर वापस आ जाया करते हैं। अतएव यह मानना पड़ता है कि नींद की दशा में शरीर या मन की क्रिया बन्द नहीं होती है, वरन चलती रहती है। यह बात अलग है कि मनुष्य को नींद के कारण ज्ञान नहीं होता। निद्रावस्था में भी हमारा मन शरीर को अपने नियंत्रण में रखता है।

यह article “Mind या मन का मतलब क्या है। यह कैसे काम करता है(Mind meaning in hindi)“पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया उम्मीद करता हुँ। कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा।