GPS Full form क्या है। GPS क्या है (About GPS full, full form of GPS)

You are currently viewing GPS Full form क्या है। GPS क्या है (About GPS full, full form of GPS)

हेलो दोस्तों आज हम जानेगे हैं। GPS क्या है, GPS कैसे काम करता है। Full form of GPS क्या है। GPS का FULL FORM क्या है। GPS का उपयोग कहां किया जाता है। GPS क्यों जरूरी है। GPS full form हिंदी में क्या होगा। GPS meaning क्या होता है। अगर आप कंप्यूटर background से हैं तो आपको GPS और GPS full form के बारे में जरूर जाना चाहिए।

GPS का FULL FORM – GLOBAL POSITIONING SYSTEM

GPS Full form क्या होता है।

GPS का FULL FORM – GLOBAL POSITIONING SYSTEM है। अगर आप किसी ऐसे जगह पर जा रहे हैं जिसके बारे में आपको कुछ नहीं पता है। तो अब जीपीएस की सहायता से पहुंच सकते हैं।

आज हमारा GPS system इतना ज्यादा एडवांस हो चुका है। दुनिया में हर एक जगह की location इसमें अंकित है। पुराने समय में एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए रास्तों का मालूम होना जरूरी होता था। सही रास्ते का पता ना होने से लोग भटक जाते थे। या फिर सही समय पर नहीं पहुंच पाते थे।

पर आधुनिक युग की शुरुआत के बाद वैज्ञानिकों ने इस समस्या का समाधान ढूंढते हुए GPS का आविष्कार किया। GPS को सारे निर्देश सेटेलाइट से प्राप्त होते हैं और यह सारे सेटेलाइट पृथ्वी के बाहरी कक्षा में घूम रहे हैं।

GPS क्या है, GPS का full form और मतलब क्या है।

जैसा कि हमने ऊपर बताया जीपीएस का फुल फॉर्म Global positioning system है। जिसकी मदद से एक यूजर बड़े ही आसानी से अपनी या किसी और की location का पता लगा सकता है। जीपीएस की शुरुआत 1970 से 1980 के दशक में हुआ था।

शुरुआती दिनों में यह केवल अमेरिकन एयर फोर्स के लिए बनाया गया था। लेकिन बाद में सरकार का मन बदल गया और GPS को आम जनता के लिए भी अनुमति दे दिया गया। सन 1995 वह पहला समय था जब GPS को पहली बार आम जनता के लिए लॉन्च किया गया। उस समय यह LOCATION का सही अनुमान नहीं लगा पाता था। सन 2000 में काफी सुधारों के बाद आम लोगों के लिए इसे दोबारा launch किया गया। जो काफी हद तक accurate location देने में सक्षम थे।

2005 से लेकर 2015 तक अमेरिकन एयर फोर्स ने लगभग 50 GPS के सेटेलाइट को Launch किया। जिसके कारण जीपीएस टेक्नोलॉजी और भी ज्यादा एडवांस हो गई। आज के समय में सभी देशों ने अपना-अपना जीपीएस सैटेलाइट लॉन्च कर दिया है। जिससे GPS technology और भी बेहतरीन और तेज बन चुका है।

GPS कैसे काम करता है।

Full form of GPS-दोस्तों जब हम किसी अनजान जगह पर जाते हैं। तब हम अपनी location को track करने के लिए और अपनी मंजिल तक पहुंचने के लिए GPS का इस्तेमाल जरूर करते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है। GPS मे ऐसा क्या होता है। जिससे वह कुछ ही सेकंड में हमारे लोकेशन का पता लगा लेता है। आखिर एक ऑब्जेक्ट की सही स्थिति का पता लगाने के लिए पूरा GPS system कैसे काम करता है आगे जाने वाले हैं।

GPS system पृथ्वी के बाहर घूम रहे सेटेलाइट से निर्देश प्राप्त करता है। और हमे सही स्थिति या Location का ज्ञान देता है। पृथ्वी की बाहरी कक्षा में घूम रहे हैं इन सेटेलाइट मे atomic clock लगे रहते हैं। atomic clock ऐसी घड़ियां होती हैं। जो हजारों साल बाद भी Accurate टाइम को सही-सही माप सकती हैं।

पृथ्वी के बाहर स्थित यह GPS सेटेलाइट हर सेकंड सिग्नल भेजती रहती है। पृथ्वी पर स्थित कोई व्यक्ति जिसके पास GPS receiver वाला मोबाइल या डिवाइस होता है। इन सिगनल्स को receive करता है। दोस्तों केवल एक सेटेलाइट से जीपीएस लोकेशन का पता नहीं लगाया जा सकता है इसके लिए हमें 3 सैटेलाइट की जरूरत होती है कोई भी मोबाइल या डिवाइस अगर तीन सेटेलाइट से link बनाने में सफल हो जाता है। तब वह आपके exact location पता बता देता है।

जब हम किसी चलती हुई गाड़ी या फिर वाहन में सफर करते हैं। तब ऐसे मे हमारा location तेजी से बदल रहा होता है। ऐसे में हमारा जीपीएस डिवाइस एक सेटेलाइट से दूसरे सेटेलाइट के सिंगल एरिया में आने पर उनसे अपना link जोड़ता है। यह चीजें काफी तेजी से हो रही होती हैं। जिसके कारण हमारा battery usage भी बढ़ जाता है।

पृथ्वी के बाहर घूम रहे हैं यह जीपीएस सेटेलाइट पृथ्वी पर मौजूद हर एक जगह को scene करते है। और उनका एक मानचित्र तैयार करते हैं। ऐसे में किसी व्यक्ति को उन जगहों पर जाना होता है। तब यह सैटेलाइट सही location और रास्ते को track करते है। और हमे सही निर्देशांक देते हैं।

GPS का उपयोग

दोस्तों आज के समय में जीपीएस के बहुत सारे उपयोग है।लेकिन आज हम उन्ही चीजों की चर्चा करेंगे। जिनका सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है।

  1. Location – जीपीएस की मदद से आप बड़े ही आसानी से किसी भी लोकेशन का पता लगा सकते हैं।
  2. Navigation – GPS मदद से आप एक जगह से दूसरी जगह की लोकेशन का भी बड़े आसानी से पता लगा सकते हैं।
  3. Tracking – GPS की सहायता से आप किसी भी OBJECTS को LIVE ट्रैक कर सकते हैं। साथ ही उनकी स्थिति का भी पता लगा सकते हैं।
  4. Mapping – दोस्तों जीपीएस एक ऐसा सिस्टम है जिसमें दुनिया भर के Map के निर्देशांक अंकित है।

आज के समय में जीपीएस हरेक क्षेत्र में उपयोग किया जा रहा है। अधिकतर जीपीएस का उपयोग accurate survey और maps तैयार करने के लिए, position या location को track करने के लिए और साथ ही navigation के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

हमने क्या सीखा

दोस्तों मैं आशा करता हूं हमारा यह लेख GPS Full form क्या है। GPS क्या है (About GPS full,GPS full form) आपको जरूर पसंद आया होगा। अगर आपके मन में इस आर्टिकल से संबंधित कोई डाउट है। तो आप बेफिक्र होकर हमें कमेंट या ईमेल कर सकते हैं।

यह article “GPS Full form क्या है। GPS क्या है (About GPS full,GPS full form) “पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया उम्मीद करता हुँ। कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा।