Silver क्या है, खोज, गुण, उपयोग, समस्थानिक (What is Silver, Discovery, Properties, Uses, Isotopes in Hindi)

You are currently viewing Silver क्या है, खोज, गुण, उपयोग, समस्थानिक (What is Silver, Discovery, Properties, Uses, Isotopes in Hindi)
silver

चांदी एक प्रकार की धातु है जिसका उपयोग सिक्कों और गहनों में किया जाता है। इसमें एक चमकदार, चांदी-सफेद रंग है और यह अत्यधिक लचीला है। चांदी का उपयोग सदियों से धन के रूप में किया जाता रहा है, लेकिन 20वीं शताब्दी में ही इसका व्यापक रूप से उपयोग किया जाने लगा। आज, चांदी पृथ्वी पर सबसे आम कीमती धातुओं में से एक है।

Silver क्या है (What is Silver in Hindi)

Silver क्या है (What is Silver in Hindi)

आवर्त सारणी में चांदी एक तत्व है। इसमें Ag और परमाणु क्रमांक 47 का प्रतीक है। इसे सबसे अधिक प्रतिक्रियाशील धातु माना जाता है और इसमें छह वैलेंस इलेक्ट्रॉन होते हैं।चांदी एक चमकदार, चांदी की उपस्थिति वाली धातु है जिसका रंग सफेद से ग्रे तक होता है, और इसका उपयोग प्राचीन काल से गहनों में किया जाता रहा है। चांदी एक चमकदार, चांदी जैसी दिखने वाली धातु है जिसका रंग सफेद से ग्रे तक होता है। इसका उपयोग प्राचीन काल से गहनों में किया जाता रहा है। चांदी सभी धातुओं में सबसे अधिक निंदनीय है और इसे बरकरार रहते हुए पतली चादरों में ठोका जा सकता है।

चांदी एक अत्यधिक प्रतिक्रियाशील धातु है, जिसका अर्थ है कि यह अन्य पदार्थों के साथ आसानी से प्रतिक्रिया कर सकती है। इसका उपयोग गहने, सिक्के, चांदी के बर्तन और इलेक्ट्रॉनिक्स बनाने के लिए भी किया जाता है। चांदी की खोज 1803 में विलियम हाइड वोलास्टन ने की थी जब उन्होंने देखा कि सिल्वर क्लोराइड का एक टुकड़ा हवा के संपर्क में आने के बाद काला हो गया था।

Silver की खोज (Discovery of Silver in hindi)

चांदी एक धातु है जिसका उपयोग सदियों से विभिन्न रूपों में सिक्के, गहने और अन्य वस्तुओं को बनाने के लिए किया जाता रहा है। यह पृथ्वी की पपड़ी में 0.01-0.08% की सांद्रता में पाया जा सकता है।चांदी की खोज सोने और तांबे के बाद लगभग 4000 ईसा पूर्व में हुई थी, जब इसका उपयोग गहनों में और विनिमय के माध्यम के रूप में किया जाता था। महत्वपूर्ण आकार के सबसे पहले ज्ञात कार्य पूर्वी अनातोलिया में कप्पादोसिया के पूर्व-हित्तियों के थे।

चांदी भी एक रासायनिक तत्व है जिसका प्रतीक Ag, परमाणु क्रमांक 47 और परमाणु भार 107.75682 ug/mol है। चांदी के यौगिकों को अक्सर उनके मजबूत ऑक्सीकरण गुणों के कारण रोगाणुरोधी एजेंटों और कीटाणुनाशक के रूप में उपयोग किया जाता है जो कई प्रकार के रोगाणुओं को नष्ट करते हैं।

Silver के गुण (Properties of Silver)

चांदी एक ऐसी धातु है जिसे सभी धातुओं में सबसे अधिक निंदनीय और नमनीय के रूप में जाना जाता है। इसे दुनिया की सबसे मूल्यवान धातुओं में से एक भी माना जाता है।

चांदी के कई उपयोग और गुण हैं, लेकिन इसके कुछ सबसे सामान्य उपयोग गहने, फोटोग्राफी, इलेक्ट्रॉनिक्स, सिक्के और दर्पण के लिए हैं। चांदी का उपयोग प्राचीन काल से किया जाता रहा है क्योंकि यह अत्यधिक परावर्तक और धूमिल या ऑक्सीकरण के लिए प्रतिरोधी है।

चांदी एक चमकदार सफेद धातु है जिसमें चांदी का रंग और चमकदार चमक होती है। यह चाकू से काटने के लिए पर्याप्त नरम है, लेकिन पतली चादरों में ठोके जाने या तार में खींचे जाने के लिए पर्याप्त कठिन है। हवा के संपर्क में आने पर चांदी भी धूमिल हो जाती है और हाइड्रोजन सल्फाइड और सल्फर डाइऑक्साइड जैसे सल्फर यौगिकों के साथ प्रतिक्रिया करती है।

Silver के समस्थानिक( Isotopes of Silver in hindi)

चांदी एक चांदी-सफेद धातु तत्व है जिसमें बहुत कम गलनांक होता है और यह अत्यधिक निंदनीय होता है। हवा के संपर्क में आने पर यह धूमिल हो जाता है, लेकिन उच्च चमक के लिए पॉलिश किया जा सकता है।स्वाभाविक रूप से होने वाली चांदी (47Ag) दो स्थिर समस्थानिकों 107Ag और 109Ag से लगभग समान अनुपात में बनी होती है, जिसमें 107Ag थोड़ा अधिक प्रचुर मात्रा में (51.839% प्राकृतिक बहुतायत) होता है।

चांदी का एक महत्वपूर्ण वस्तु के रूप में एक लंबा इतिहास रहा है और इसका उपयोग गहने, सिक्के, फोटोग्राफी, दर्पण और बिजली के संपर्कों में किया गया है।

चांदी प्रकृति में मुख्यतः सल्फाइड Ag2S या क्लोराइड AgCl के रूप में पाई जाती है। तत्व तांबे (AgCu), बिस्मथ (AgBi), सोना (Au), पैलेडियम (AuPd) और प्लैटिनम (AuPt) जैसे कई अन्य तत्वों के साथ यौगिक बनाता है।

Silver का परमाणु संख्या और परमाणु द्रव्यमान (Atomic mass and atomic number of Silver)

चांदी एक रासायनिक तत्व है जिसका प्रतीक एजी और परमाणु संख्या 47 है। यह एक चमकदार, सफेद, नरम धातु है जिसमें थोड़ी धातु की चमक होती है। चांदी का परमाणु द्रव्यमान 107.87 u और परमाणु क्रमांक 47 है।चांदी का उपयोग सदियों से धन और गहनों के रूप में किया जाता रहा है लेकिन हाल ही में यह अपने प्रवाहकीय गुणों के कारण इलेक्ट्रॉनिक्स में उपयोग के लिए लोकप्रिय हो गया है।

Silver का उपयोग (Uses of Silver)

चांदी एक मूल्यवान और बहुमुखी तत्व है जिसका कई तरह से उपयोग किया गया है। इसका उपयोग गहने, सिक्के और दर्पण के लिए एक कोटिंग के रूप में किया गया है। यह पृथ्वी पर दुर्लभतम तत्वों में से एक है और हाल तक इसे एक विलासिता की वस्तु माना जाता था।

चांदी अपनी उच्च लचीलापन के लिए जानी जाती है, जो इसे कला और शिल्प उद्योग में उपयोगी बनाती है। इसे बिना तोड़े या कलंकित किए आसानी से आकार में मोड़ा जा सकता है। चांदी में जीवाणुरोधी गुण भी होते हैं, जो इसे स्केलपेल और सीरिंज जैसे चिकित्सा उपकरणों के लिए एक आदर्श विकल्प बनाता है। चांदी का उपयोग इसकी दुर्लभता और मूल्य के कारण सिक्के बनाने के लिए भी किया जाता रहा है।

चांदी का सबसे आम उपयोग सिक्का में सिक्का धातु के रूप में, फोटोग्राफी में एक फोटोग्राफिक तत्व के रूप में और उत्प्रेरक के रूप में होता है। चांदी का उपयोग चांदी की परत चढ़ाने वाले सामान जैसे फ्लैटवेयर या कटलरी बनाने के लिए भी किया जाता है। इन वस्तुओं पर चांदी का लेप आसानी से नहीं उतरता है और अक्सर इसे अंतर्निहित सामग्री की तुलना में अधिक मूल्यवान माना जाता है।

पूरे इतिहास में चांदी का कई तरह से उपयोग किया गया है और इसे गहनों, सिक्कों, चांदी के बर्तन और यहां तक कि दंत चिकित्सा में भी पाया जा सकता है। चांदी का उपयोग इन कुछ उदाहरणों तक ही सीमित नहीं है। वास्तव में, चांदी के विद्युत संपर्क और अर्धचालक सहित कई व्यावहारिक उपयोग हैं।

चांदी को इसके जीवाणुरोधी गुणों के लिए औषधीय प्रयोजनों के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है और इसे तांबे या सोने की तुलना में बिजली का अच्छा संवाहक माना जाता है। यह अपने उच्च स्तर की शुद्धता के कारण अन्य धातुओं पर होने वाले क्षरण को रोकने में भी सक्षम है।