Equilibrium का मतलब क्या होता है, परिभाषा, उदाहरण(Equilibrium in hindi)

You are currently viewing Equilibrium का मतलब क्या होता है, परिभाषा, उदाहरण(Equilibrium in hindi)

Equilibrium का अर्थ- इसका सामान्य अर्थ होता है संतुलन की अवस्था, संतुलन का मतलब होता है तालमेल। किन्ही दो या दो से अधिक चीजों के बीच में।(Equilibrium in hindi)

Equilibrium किसे कहते है-What is Equilibrium in hindi

जब किसी वस्तु पर कई बल एक साथ कार्य कर रहे हो। जिसके कारण वस्तु ना तो रेखीय गति करें और ना ही घूर्णन गति करें। तो हम कह सकते हैं कि वस्तु equilibrium की state मे है।

संतुलन तीन प्रकार का होता है- Types of equilibrium in hindi

1) स्थायी संतुलन(stable equilibrium)
2) अस्थायी संतुलन(unstable equilibrium)
3) उदासीन संतुलन(neutral equilibrium)

1) स्थायी संतुलन(stable equilibrium)

यदि किसी वस्तु को उसके equilibrium अवस्था से थोड़ा सा भी विस्थापित करके छोड़ने पर यदि वस्तु पुनः अपनी equilibrium की अवस्था प्राप्त कर लेती है तो कहा जाता है कि वस्तू stable equilibrium में है।

2) अस्थायी संतुलन(unstable equilibrium)

यदि किसी वस्तु को उसकी equilibrium अवस्था से थोड़ा सा विस्थापित करके छोड़ने पर वह पुनः संतुलन की अवस्था में ना आए तो इसे unstable equilibrium कहते हैं।

3)उदासीन संतुलन(neutral equilibrium)

यदि किसी वस्तु को उसकी equilibrium स्थिति से थोड़ा सा विस्थापित करके छोड़ने पर वह वस्तु अपनी पूर्व अवस्था में आने का प्रयास ना करें बल्कि अपनी नई स्थिति में ही रहे तो हम कह सकते हैं कि वस्तु neutral equilibrium में है जैसे- गोलाकार वस्तुएं इत्यादि।

संतुलन में ग्रेविटी का योगदान-

कोई वस्तु तभी तक equilibrium की अवस्था में रह सकती है जब तक उसके गुरुत्व केन्द्र से गुजरने वाली उर्ध्वाधर रेखा उस वस्तु के आधार के क्षेत्रफल के अन्दर से होकर गुजरती है। यदि यह रेखा आधार के क्षेत्रफल से बाहर हो जाती है तो वस्तु का संतुलन बिगड़ जाता है और वह गिर पड़ती है।

इससे हम समझ सकते है कि किसी वस्तु के आधार का क्षेत्रफल जितना बड़ा होगा, उसका equilibrium उतना ही स्थायी होगा। इटली में पीसा की मीनार झुके रहने के बावजूद नहीं गिर रही है, क्योंकि इसके गुरुत्व केन्द्र से गुजरने वाली ऊर्ध्वाधर रेखा उसके आधार से होकर जाती है।

पहाड़ पर चढते समय या पीठ पर बोझ लेकर चलते समय मनुष्य आगे की ओर झुक जाता है, ताकि उसके गुरुत्व केन्द्र से गुजरने वाली ऊर्ध्वाधर रेखा उसके पैरों के नीचे से होकर जाये और वह अपने equilibrium को बनाये रख सके।

दो मंजली बसों में नीचे वाली मंजिल अधिक भारी बनाते हैं, ताकि बस का गुरुत्व केन्द्र नीचा हो जाये व उसके गुरुत्व केन्द्र से होकर जाने वाली उर्ध्वाधर रेखा आधार से होकर गुजरे । और बस का balance ठीक रहे।

यह article “Equilibrium का मतलब क्या होता है, परिभाषा, उदाहरण(Equilibrium in hindi) ” पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया उम्मीद करता हुँ। कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा।