Bitcoin mining क्या है, मतलब, परिभाषा, फायदे सम्पूर्ण जानकारी (Bitcoin mining meaning in hindi)

You are currently viewing Bitcoin mining क्या है, मतलब, परिभाषा, फायदे सम्पूर्ण जानकारी (Bitcoin mining meaning in hindi)

Bitcoin mining क्या है, मतलब, परिभाषा, फायदे सम्पूर्ण जानकारी(Bitcoin mining meaning in hindi),what is bitcoin mining in hindi,how bitcoins are mined,what is mining, mining meaning in hindi ,meaning of cryptocurrency

दोस्तो Bitcoin mining के बारे में आप लोगों ने पहले भी कई बार सुना होगा जिसके बारे में अक्सर ही चर्चा होती रहती है कि Bitcoin की mining करके लोग हर महीने लाखों रुपए कमा रहे हैं। अब ऐसे में इसको लेकर लोगों के मन में अक्सर तरह तरह के सवाल आते रहते हैं। जैसे Bitcoin mining क्या होती है इसको किस तरह से किया जाता है और भारत में Bitcoin mining करना प्रॉफिटेबल है या नहीं।

अगर आप भी इन सवालों के जवाब जानना चाहते हैं तो इस Article में बने रहिए क्योंकि आज की हमारी इस Article में हम हम mining से जुड़ी इन्हीं सब सवालों के जवाब देने वाले हैं। तो चलिए दोस्तो अब इस Article को शुरू करते हैं। दोस्तो सबसे पहले हम यह समझते हैं कि ये Bitcoin mining आखिर होती क्या है।

Bitcoin mining क्या है?

असल में दोस्तों तो Bitcoin Blockchain नाम की एक Computer टेक्नोलॉजी पर काम करता है। ये Blockchain ठीक उसी तरह होती है जैसे किसी व्यापारी का बही खाता होता है। यानी जिस तरह बही खाते का पेज भर जाने के बाद उसमें एक नया पेज जोड़ा जाता है ठीक उसी तरह Blockchain टेक्नोलॉजी में भी हर दस मिनट के बाद एक नया ब्लॉक बनाया जाता है जिसको बनाने का काम वो Computer करते हैं जिन्हें लोगों ने mining पर लगाया होता है। Blockchain के इस ब्लॉक के अंदर सभी नई ट्रांजैक्शंस लिखी और रिकॉर्ड की जाती हैं।

Bitcoin क्या है?

दोस्तो Bitcoin एक डी सेंट्रलाइज्ड करंसी सिस्टम पर काम करता है यानी उसका डेटा बैंकों की तरह किसी एक स्पेशल सर्वर या Computer के अंदर स्टोर नहीं होता। इसलिए इन सभी ट्रांजैक्शंस की एक एक कॉपी हर उस Computer के अंदर होती है जो mining पर लगा हुआ होता है ताकि कोई भी ट्रांजैक्शन किसी समय वेरिफाई किया जा सके।

पोर्ट पर अगर कोई व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति को अपने कुछ Bitcoin बेचता या ट्रान्सफर करता है तो इस चीज को वेरिफाई करना कि उस व्यक्ति के पास सच में Bitcoin है या नहीं और जो Bitcoin को भेज रहा है वह सही अड्रेस पर जा रहे हैं या नहीं। ये सभी काम Bitcoin माइनर्स के होते हैं जिन्हें वो अपने स्पेशल Computer की मदद से अंजाम देते हैं।

इसको दूसरे शब्दों में प्रूफ अप वर्क भी कहा जाता है साथ ही Blockchain में जब भी कोई नया ब्लॉक बनता है तो सिस्टम के अंदर कुछ नए Bitcoin भी बनते हैं। अब अगर आसान शब्दों में कहें तो Bitcoin ट्रांजैक्शन को Blockchain में ऐड करने और नए Bitcoin बनाने का प्रोसेस ही Bitcoin mining कहलाता है और जो लोग अपना Computer लगाकर इस प्रोसेस को अंजाम देते हैं उन लोगों को Bitcoin माइनर्स कहा जाता है। यानी जिस तरह दुनिया में सोना निकालने के लिए खदानों के अंदर mining की जाती है ठीक उसी तरह दोस्तों ने Bitcoin बनाने के प्रोसेस को Bitcoin mining का नाम दिया गया है।

Bitcoin कैसे बनता है?

दोस्तों Bitcoin एक कॉम्प्लेक्स Computer एल्गोरिदम से बनता है इसलिए इसके बनने का प्रोसेस इतना सिंपल नहीं है जितना ये सुनने में लग रहा है दरअसल एक ही समय में दुनिया के अंदर लाखों Computer सिस्टम एक साथ mining करने की कोशिश करते हैं और एक समय में उनमें से कोई एक Computer ही mining कर पाता है इसलिए इसको लॉटरी प्रोसेस भी कहा जाता है तो बेसिकली Bitcoin माइनर्स का काम नए Bitcoin को माइन करना ट्रांजैक्शंस को वेरिफाई करना और ब्लॉक सिस्टम में नए ब्लॉक को बनाना होता है तभी यह सिस्टम बिना रुके लगातार इसी तरह चलता रहे।

वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हर चार साल में नए Bitcoin बनने की गिनती आधी हो जाती है। दरअसल 2016 से 2019 तक हर रोज 1800 नए Bitcoin बनाए जाते थे और अब 2020 से सिर्फ 900 Bitcoin ही हर रोज mine किए जा रहे हैं जो कि 2023 तक इसी तरह चलता रहेगा उसके बाद ये गिनती 900 से घटकर 100 हो जाएगी और इसी तरह घटते घटते सन 140 में नए Bitcoin बनना पूरी तरह खत्म हो जाएगा।

Bitcoin mining के फायदा

अब सवाल आता है कि जो लोग mining करते हैं उन्हें इससे क्या फायदा होता है। यानी Bitcoin माइनर्स की कमाई आखिर किस तरह से होती है। असल में जो भी Bitcoin माइनर सबसे पहले मैथमेटिकल पजल को सॉल्व करके Blockchain में एक नया ब्लॉक ऐड कर देता है तो उस माइनर को ही ब्लॉक करने के बदले में ब्लॉक रिवॉर्ड दिया जाता है।

इस समय इस ब्लॉक रिवॉर्ड की वैल्यू सिक्स प्वाइंट टू फाइट बीटीसी है। यानी Blockchain के अंदर एक नया ब्लॉक ऐड करने के बदले में माइनर को सिक्स प्वाइंट टू प्वाइंट Bitcoin रिवार्ड के रूप में दिए जाते हैं। हालांकि ये रिवॉर्ड भी नए Bitcoin की तरह हर चार साल में आधा होता जाता है। इसके अलावा जब भी कोई व्यक्ति Bitcoin खरीदता बेचता या किसी को सेंड करता है तो उसमें उस व्यक्ति को एक छोटी सी ट्रांजैक्शन फीस देनी पड़ती है।

अब इस ट्रांजैक्शन को जो भी माइनर वेरिफाई करके कंप्लीट करता है यह ट्रांजैक्शन फीस उस माइनर को रिवॉर्ड के रूप में दे दी जाती है और उसको यही Bitcoin माइनर्स की असल कमाई होती है।

धमतरी। mining डिफिकल्टी व अब बात करते हैं दोस्तों Bitcoin mining में कठनाई क्या है आपके अंदाजे के लिए बता दें कि साल 2009 में जब Bitcoin की शुरूआत हुई थी और इसको पहली बार मान्य किया गया था तब Bitcoin mining के डिफिकल्टी वन थी लेकिन आज ये डिफिकल्टी वन से बढ़कर 22 ट्रिलियन तक पहुंच चुकी है। इसे आप खुद ही यह अंदाजा लगा सकते हैं कि समय के साथ Bitcoin mining करना कितना ज्यादा मुश्किल हो चुका है। इसकी वजह यह है कि पिछले कुछ सालों में दुनिया के अंदर नए Bitcoin माइनर्स की गिनती बहुत ज्यादा तेजी से बढ़ी हुई है। बहुत से लोग करोड़ों रुपए इन्वेस्ट करके सिर्फ Bitcoin mining का ही काम कर रहे हैं।

साथ ही बड़ी बड़ी कंपनीज अब इस फील्ड में उतर चुकी है जो mining के लिए बेहद महंगे इक्विपमेंट्स का इस्तेमाल करती है। ऐसे में उसको Bitcoin mining का यह काम पहले से कहीं ज्यादा डिफिकल्ट और महंगा हो चुका है और इसकी वजह से अब ये पॉसिबल ही नही रहा कि कोई व्यक्ति सिर्फ एक कम्प्यूटर का इस्तेमाल करके Bitcoin की mining कर सके।

भारत के अंदर Bitcoin mining करना फायदेमंद है

अब सबसे बड़ा और अहम सवाल ये आता है कि भारत के अंदर Bitcoin mining करना फायदेमंद है या नहीं। दोस्तों तो इस सवाल का जवाब अगर सीधे शब्दों में दिया जाए तो भारत के अंदर Bitcoin mining करना बिल्कुल भी फायदेमंद नहीं है और ऐसा होने का सबसे मेन रीजन है भारत की इलेक्ट्रिसिटी कॉस्ट। दरअसल mining के लिए आपको कई बड़े बड़े और पावरफुल कम्प्यूटर चौबीसों घंटे ओपन करके रखने पड़ते हैं जिनका पावर कंजप्शन काफी ज्यादा हो जाता है।

अब चूंकि हमारे देश में बिजली की कॉस्ट काफी ज्यादा है इसलिए Bitcoin mining जैसे कामों में बिजली का खर्च ही इतना ज्यादा हो जाता है कि उससे होने वाला सारा प्रॉफिट इलेक्ट्रिसिटी में ही चला जाता है। आपके अंदाजे के लिए बता दें कि दुनिया के अंदर लगभग 65 परसेंट Bitcoin mining चीन के अंदर होती है क्योंकि चीन का इलेक्ट्रिसिटी कोड्स हमारे भारत के मुकाबले ज्यादा है। इसके अलावा Bitcoin mining के इक्विपमेंट्स जैसे ऐक्सिस यानी अप्लिकेशन स्पेसिफिक इंटीग्रेटेड सर्किट और जीपीएस आदि जो इस्तेमाल किए जाते हैं वो सभी मुख्य चीन के अंदर ही मैन्युफैक्चर होते हैं।

अभी से होता ही है कि जब भारत में इन इक्विपमेंट्स को मंगाया जाता है तो इम्पोर्ट ड्यूटी और कुछ टैक्स लगने की वजह से इनकी कॉस्ट और भी ज्यादा बढ़ जाती है। साथ ही जब ये शिपमेंट भारत में पहुंचते हैं तब तक मार्केट में उनके नए वर्जन आ जाते हैं। ऐसे में भारत के अंदर जो इक्विपमेंट इस्तेमाल किए जाते हैं वो बहुत जल्दी आउटडेटेड हो जाते हैं और चूंकि Bitcoin mining की डिफिकल्टी बहुत तेजी से बढ़ रही है ऐसे में पुराने इक्विपमेंट से Bitcoin mining करना बहुत ही मुश्किल है

इन्हीं सब वजहों से भारत के अंदर Bitcoin mining करना बिल्कुल भी प्रॉफिटेबल नहीं रह जाता। कनक्लूजन अब अंत में यह सवाल आता है कि भारत में हम लोगों को Bitcoin के अंदर अपना पैसा इनवेस्ट करना चाहिए या नहीं। तो दोस्तों जैसा कि हमने आपको बताया कि हमारे देश में महगी इलेक्ट्रिसिटी और इक्विपमेंट्स की वजह से Bitcoin mining कितना प्रॉफिटेबल नहीं रह जाता जितना चीन जैसे दुनिया के दूसरे देशों में होता है

बल्कि भारत के अंदर अधिकतर ये देखा गया है कि ज्यादातर लोगों को इसमें नुकसान ही उठाना पड़ता है क्योंकि एक छोटे स्तर का mining सेटअप लगाने के लिए 5 से 10 लाख रुपए तक का खर्चा हो जाता है फिर भी आप चाहें तो Bitcoin mining शुरू कर सकते हैं क्योंकि ये पूरी तरह आप क्यों पर डिपेंड करता है कि आपको करना क्या है लेकिन मैं तो आपको यही सलाह दूंगा कि आप Bitcoin mining की जगह अपना पैसा Bitcoin या दूसरी कोई क्रिप्टो करंसी खरीदने में निवेश करिए।

लेकिन दोस्तों इनवेस्ट करने से पहले यह ध्यान रहे कि इसका रेट बहुत तेजी से ऊपर नीचे होता रहता है। इसलिए अपने सभी रिस्क फैक्टर को देखकर ही इन्वेस्ट करें।

हमने क्या सीखा Bitcoin mining meaning in hindi के बारे मे,

दोस्तों इस आर्टिकल मे हमने जाना Bitcoin mining से जुड़े हमें जितनी भी जानकारी प्राप्त हुई। उसे हमने आपके सामने प्रस्तुत किया है। अगर आपके मन में इस आर्टिकल से संबंधित कोई डाउट है। तो आप बेफिक्र होकर हमें कमेंट या ईमेल कर सकते हैं।

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको Bitcoin mining से जुड़ी सभी जानकारियां प्रस्तुत की है। जिसके वजह से आपको इंटरनेट पर किसी अन्य साइट पर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इससे आपके समय की बचत होगी। और आप Bitcoin mining से जुड़े बहुत सारा ज्ञान एक ही जगह पर प्राप्त कर रहे हैं।

यह article “Bitcoin mining क्या है, मतलब, परिभाषा, फायदे सम्पूर्ण जानकारी(Bitcoin mining meaning in hindi)“पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया उम्मीद करता हुँ। कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा। दोस्तों हमारा यह पोस्ट अगर आपको पसंद आया है। तो कृपया करके अपने दोस्तों और सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर अवश्य कीजिए।