मित्रता पर निबंध सम्पूर्ण जानकारी (Friendship essay hindi)

You are currently viewing मित्रता पर निबंध सम्पूर्ण जानकारी (Friendship essay hindi)

मित्रता [भूमिका, मित्र चयन में सतर्कता, सच्चे मित्र से लाभ, बुरे से हानि, उपसंहार](Friendship essay hindi)

मित्रता बड़ा अनमोल रतन, कब इसे तोल सकता है धन? -दिनकर सच है, मित्रता अनमोल धन है, अतुलनीय है। जिसे सच्चा मित्र मिल. जाता है, उसका हर दुख आधा हो जाता है। मनुष्य जब संसार-सागर में उतरता है तो उसे बहुत लोग मिलते हैं। किसी की अदा निराली होती है, किसी का रंग-रूप, किसी की बातें और किसी की दरियादिली। युवा मन इन्हीं में से किसी पर फिदा हो जाता है और उसे मित्र बना लेता है। ऐसे लोग शायद ही मित्रता निभाते हैं। अधिकतर मतलबी होते हैं,

कुछ दिन मौज-मस्ती की और खिसके। वस्तुतः सच्ची मित्रता वहीं होती है, जहाँ विचारों की एकता होती है। इसमें समृद्धि, निर्धनता , जाति-पाँति आड़े नहीं आती। कृष्ण राजा थे, सुदामा निर्धन फिर भी दोनों में गाढ़ी मित्रता थी। इसी प्रकार, राम और सुग्रीव गाढ़े मित्र थे। कहते हैं महाकवि तुलसी और कविवर रहीम भी मित्र थे। कभी विपरीत विचारों वालों में भी मित्रता हो जाती है क्योंकि हम चाहते हैं कि जो गुण हममें नहीं है, उस गुणवाला कोई मिल जाए।

राम शान्त स्वभाव के थे किन्तु भावावेश में आने वाले लक्ष्मण को वे बहुत चाहते थे। चिन्तन प्रिय व्यक्ति प्रफुल्ल चित्त वाले को, निर्बल बलवान को और वीर उत्साही को खोजता है। वस्तुतः सच्चे मित्र में उत्तम वैद्य की सी निपुणता और परख होती है। जैसे वैद्य अपनी औषधि से शरीर के विकार को निकाल देता है, वैसे ही सच्चा मित्र अपनी सलाह से अपने मित्र को दुगुर्गों से बचाता, संकट में उसकी रक्षा करता और दुर्दिन में उसकी सहायता करता है। रामचन्द्र शुक्ल की दृष्टि में सच्चे मित्र में माता-सा धैर्य और कोमलता होती है।

सच्चा मित्र आनन्द को दुगुना और दुख को आधा कर देता है। इसलिए किसी से मित्रता बहुत सोच-विचार कर, जाँच-परख कर करनी चाहिए। मुँह के सामने प्रशंसा और पीठ पीछे बुराई करनेवालों से सदा सचेत रहना चाहिए। सुविधा से अपना काम निकाल कर खिसक जानेवाले लोग बहुत मिलते हैं, वे मित्र नहीं होते, मतलबी होते हैं। कहा है- मतलबी यार किसके? काम निकला और खिसके।

सच्ची बात तो यह है कि मित्रता दैवी देन है और मनुष्य के लिए वरदान। यही कारण है कि सच्चे मित्र बहुत नहीं होते। सच्चा मित्र जीवन में एक वरदान है। वह भूले-भटके को राह दिखाता और मित्र की सोई किस्मत को जगाता है।

हमने क्या सीखा Friendship essay hindi के बारे मे,

दोस्तों इस आर्टिकल मे हमने जाना Friendship essay hindi से जुड़े हमें जितनी भी जानकारी प्राप्त हुई। उसे हमने आपके सामने प्रस्तुत किया है। अगर आपके मन में इस आर्टिकल से संबंधित कोई डाउट है। तो आप बेफिक्र होकर हमें कमेंट या ईमेल कर सकते हैं।

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको Friendship essay hindi से जुड़ी सभी जानकारियां प्रस्तुत की है। जिसके वजह से आपको इंटरनेट पर किसी अन्य साइट पर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इससे आपके समय की बचत होगी। और आप Friendship essay hindi से जुड़े बहुत सारा ज्ञान एक ही जगह पर प्राप्त कर रहे हैं।

यह article “मित्रता पर निबंध सम्पूर्ण जानकारी (Friendship essay hindi)“पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया उम्मीद करता हुँ। कि इस article से आपको बहुत कुछ नया जानने को मिला होगा। दोस्तों हमारा यह पोस्ट अगर आपको पसंद आया है। तो कृपया करके अपने दोस्तों और सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर अवश्य कीजिए।